केरल, एएनआइ। सबरीमाला मंदिर (Sabarimala Temple) विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक बार फिर बुधवार को दो महिलाओं को मंदिर में प्रवेश करने की कोशिश की, लेकिन श्रद्धालुओं ने उन्हें नीलिमला के पास रोक दिया है। वहां तनाव का माहौल बताया जा रहा है। हालात को देखते हुए पुलिस मौके पर मौजूद है। बताया जा रहा है कि महिलाओं बेस कैंप पार कर चुकी थीं, जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने करीब 1 किमी के दायरे में उन्हें घेर लिया। करीब 2 हजार लोग वहां मौजूद हैं।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर अपनी गाड़ी में महिलाओं को सुरक्षित बैठा लिया है। उन्होंने पहले बिना दर्शन किए वापस आने से इन्कार कर दिया था, उनका कहना है कि दर्शन के लिए उन्होंने 41 दिनों का उपवास भी रखा था। दोनों महिलाएं एक 9 सदस्यीय ग्रुप का हिस्सा हैं, जो मंदिर में दर्शन के लिए जा रही थीं। पंबा बेस कैंप पार करने के बाद प्रदर्शनकारियों ने उन्हें रोक दिया गया। उनमें से एक महिला ने पत्रकारों से कहा, 'यहां भगवान अयप्पा भी हैं, उन्हें मंदिर में महिलाओं के प्रवेश करने पर कोई आपत्ति नहीं है, तो फिर ये लोग क्यों विरोध कर रहे हैं।'

मंदिर में प्रवेश करने वालीं कनक दुर्गा की सास ने की पिटाई

केरल के सबरीमाला मंदिर में इस महीने की शुरुआत में प्रवेश करने वालीं कनक दुर्गा ने पेरिंथलमाना पुलिस से शिकायत की है कि उनकी सास ने उनकी पिटाई की है। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। बता दें कि मंदिर में प्रवेश करने वालीं कनकदुर्गा का परिवार भी इस पक्ष में नहीं था कि वह ऐसा करें। यहां तक की इस पूरी मुहिम के दौरान वह अपने परिवार के संपर्क में भी नहीं रही। आलम ये रहा है कि उनके परिवार ने ही उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी थी। इसके बाद उन्‍होंने एक वीडियो जारी कर कहा था कि वह सुरक्षित हैं।

Posted By: Arti Yadav