कोच्चि, प्रेट्र। केरल की एक महिला को जबरन धर्मांतरण में मददगार रहे दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। धर्मांतरण कराने के बाद महिला को सीरिया ले जाया जा रहा था जहां उसे इस्लामिक स्टेट (आइएस) के आतंकियों के हाथों बेचने की साजिश रची गई थी।

फैयाज और सियाद दोनों कोच्चि के समीप स्थित उत्तरी पारावूर के रहने वाले हैं। दोनों को एक दिन पहले बुधवार को गिरफ्तार किया गया। पिछले वर्ष सऊदी अरब से बचाई गई 25 वर्षीया महिला की शिकायत की जांच के बाद दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया गया है। ये दोनों कन्नूर जिले में थालासेरी के रहने वाले मोहम्मद रियाज के मित्र हैं। रियाज इस मामले का मुख्य आरोपी है।

एर्नाकुलम ग्रामीण पुलिस अधीक्षक एवी गेओर्गे ने कहा, 'सभी पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत आरोप लगाया गया है।' उन्होंने आगे कहा कि रियाज सहित आठ अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए तलाशी जारी है। पुलिस ने आइएस से उनके संबंधों की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि फैयाज और सियाद को महिला की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। महिला ने कहा है कि रियाज द्वारा विदेश ले जाने से पहले उत्तरी पारावूर में एक घर में उसे सभी ने प्रताडि़त किया था। महिला ने कहा है कि बेंगलुरु में पढ़ाई करने के दौरान 2014 में रियाज के साथ वह प्रेम करने लगी थी। इसके बाद उसने इस्लाम धर्म कुबूल करने पर मजबूर किया और उसके साथ शादी की थी।

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान पर मंडरा रहा ये बड़ा खतरा, बढ़ सकता है अमेरिका का गुस्‍सा

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप