रीवा,जेएनएन। मध्य प्रदेश के रीवा में एशिया महाद्वीप के सबसे बड़े सौर ऊर्जा प्लांट में टूरिस्ट वीजा पर भारत आकर काम कर रहे चीन के दो इंजीनियरों को 72 घंटे में देश छोड़ने का अल्टीमेटम दिया गया है। उन पर 36 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। इस बारे में केंद्रीय गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर उनके बारे में जानकारी दी गई है। दोनों इंजीनियरों को देश छोड़ने का अल्टीमेटम रीवा के पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने दिया है।

पुलिस ने गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में स्पष्ट किया कि दोनों इंजीनियर सन युवान और जिंक यू मोशन रोबोट लिमिटेड चाइना के कर्मचारी हैं और टूरिस्ट वीजा पर भारत आए हैं। वे सौर ऊर्जा प्लांट में एस. इंटरप्राइजेज कंपनी के इंजीनियर आदर्श कुमार के साथ काम कर रहे हैं।

दे रहे थे डेमो तभी पुलिस पहुंची 
चीन के दोनों इंजीनियर जब सौर ऊर्जा प्लांट में डेमो दे रहे थे तभी गुढ़ पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक सहित आईबी को दी। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दोनों चीनी इंजीनियर किन शर्तो पर काम कर रहे हैं, यही देखना अभी शेष हैं। वह रीवा के एक होटल में 15 दिन से रुके हैं।

भारत सरकार को जानकारी भेजी 
रीवा के पुलिस अधीक्षक आबिद खान ने बताया कि  दोनों चीनी इंजीनियरों को 72 घंटे में देश छोड़ने का अल्टीमेटम दिया गया है। साथ ही अर्थदंड भी लगाया गया है। सारी जानकारी गृह मंत्रालय भारत सरकार को भेज दी गई है।

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप