नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी द्वारा पिछले महीने ट्विटर के CEO पराग अग्रवाल को लिखे गए पत्र का ट्विटर ने जवाब दे दिया है। राहुल गांधी के फालोअर्स की संख्या घटने पर ट्विटर ने कहा है कि हम भी चाहते हैं कि फॉलोअर्स की संख्या अकाउंट के साथ दिखे, लेकिन हम यह भी मानते हैं कि फालोअर्स वास्तविक हों। ट्विटर के पास हेरफेर और स्पैम के लिए कोई जगह नहीं है। हम मशीन लर्निंग टूल्स के जरिए हर सप्ताह बड़े पैमाने पर बाट फॉलोअर्स और स्पैम की छंटनी करते हैं। ऐसे में फॉलोअर्स की संख्या में कमी हो सकती है।

दरअसल, कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने फॉलोअर्स की संख्या कम होने को लेकर ट्विटर को एक पत्र लिखा था। राहुल गांधी ने 27 दिसंबर 2021 को ट्विटर को एक पत्र लिख कई गंभीर आरोप लगाए थे। इस पत्र में उन्होंने लिखा था कि ट्विटर मोदी सरकार के दबाव में काम कर रहा है। उन्होंने बकायदा, ट्विटर अकाउंट का डाटा भी शेयर किया, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और कांग्रेस नेता शशि थरूर के साथ तुलना करते हुए कई आरोप भी लगाए, अब ट्विटर ने इस पत्र का जवाब दिया है।

राहुल गांधी का आरोप था कि अगस्त 2021 में उनके फॉलोअर्स की संख्या 54,803 कम हुई है। वहीं, सितंबर में 1,327, अक्तूबर में 2,380 और नवंबर में 2,788 फॉलोअर्स कम हुए हैं। इस दौरान सबसे ज्यादा प्रधानमत्री मोदी के फॉलोअर्स बढ़े हैं, जिनकी संख्या करीब 30 लाख है। राहुल गांधी ने कहा है कि ट्विटर पर मेरी आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है। राहुल गांधी ने कहा, यह चौंकाने वाला है कि मेरे ट्विटर फालोअर्स की वृद्धि को अचानक रोक दिया गया। राहुल गांधी ने कहा, मेरे 2 करोड़ फालोअर्स हैं। मेरा ट्विटर अकाउंट एक्टिव है और इस साल जुलाई 2021 हर दिन मेरे 8-10 हजार फॉलोअर्स बढ़ते रहे।

राहुल गांधी ने कहा था कि अगस्त से उनके औसत मासिक फॉलोअर्स की संख्या जीरो पर आ गई है। उन्होंने लिखा, शायद संयोग से नहीं, यह वही महीने थे, जब मैंने दिल्ली में दुष्कर्म पीड़िता के मुद्दे को उठाया, किसानों के साथ एकजुटता दिखाई और कई अन्य मानवाधिकार मुद्दों पर सरकार से लड़ाई लड़ी।

Edited By: Sanjeev Tiwari