तूतीकोरिन, एजेंसियां। तमिलनाडु में तूतीकोरिन के थाने में पिटाई के बाद पिता-पुत्र की मौत के मामले में सोशल मीडिया पर फर्जी खबरें और फोटो डालने वालों को सीबी-सीआइडी ने सख्त चेतावनी दी है। मामले की जांच कर रही सीबी-सीआइडी ने फर्जी खबरों और फोटो को तुरंत हटाने को कहा और ऐसा नहीं करने पर सख्त कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है। अपराध शाखा ने यह भी कहा कि इस मामले में सारे साक्ष्यों का विश्लेषण करने के बाद वह सभी आरोपितों को हिरासत में लेगी।

मद्रास हाई कोर्ट के आदेश पर मामले की जांच कर रही सीबी-सीआइडी ने एक ऑनलाइन तमिल न्यूज पोर्टल के एडिटर को समन जारी किया। एडिटर से पोर्टल पर पोस्ट किए गए जयराज और उनके पुत्र बेनिक्स के फर्जी फोटो को लेकर पूछताछ की जाएगी।

सीबी-सीआइडी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि न्यूज पोर्टल पर जारी फोटो में पिता-पुत्र के शरीर पर कई जगह चोट के निशान नजर आ रहे हैं। ये निशान पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चोट को लेकर दी गई जानकारी से अलग हैं। इससे साफ है कि पोर्टल पर फर्जी फोटो डाले गए हैं। सीबी-सीआइडी ने इस मामले में पांच पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया है। इसमें सथंकुलम के थाना प्रभारी श्रीधर, एक सब इंस्पेक्टर और सिपाही शामिल हैं। इन सभी को मदुरै जेल भेज दिया गया है।

सीबी-सीआइडी के आइजी शंकर ने कहा कि आरोपितों के खिलाफ मौजूद साक्ष्यों का विश्लेषण किया जा रहा है। सरकारी गवाह बनी सिपाही रेवती से पूछताछ की गई है। साक्ष्यों का विश्लेषण करने के बाद पुलिस सभी आरोपितों को अपनी हिरासत में लेगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021