बेंगलुरु, एएनआइ। विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से फिर एक मुस्लिम महिला ने मदद की गुहार लगाई है। बेंगलुरु में एक मुस्लिम महिला को पति द्वारा फोन पर ट्रिपल तलाक देने का मामला सामने आया है। महिला का कहना है कि उसका पति उसे मायके छोड़ वापस अमेरिका चला गया है। उसने मदद के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अपील की है।

सुषमा स्‍वराज सभी की मदद के लिए हर समय तैयार रहती हैं। विदेश में फंसा कोई शख्‍स भी अगर सोशल मीडिया के जरिए उनसे मदद की गुहार लगाता है, तो वह तुरंत कार्रवाई करती हैं। पिछले दिनों ऐसे कई मामले सामने आए, जिनमें सुषमा स्‍वराज ने विदेश में फंसे लोगों की मदद की। हाल ही में मुंबई की जेल से छूटकर भारत लौटे हामिद अंसारी भी जब सुषमा स्‍वराज से मिलने पहुंचे, तो उनका धन्‍यवाद दिया था। हामिद की मां ने तो सुषमा स्‍वराज से यहां तक कह दिया था कि अगर आप नहीं होती, तो मेरा बेटा स्‍वदेश नहीं लौटता।

वैसे बता दें कि तत्‍काल तीन तलाक के खिलाफ केंद्र की मोदी सरकार एक बिल लेकर आई है, जिसमें ऐसा करने वालों को सख्‍त सजा देने का प्रावधान है। ये बिल लोकसभा में पारित हो गया है। अब राज्‍यसभा में इसे पास होना बाकी है। लोकसभा में तीन तलाक बिल को पास कराने के बाद मोदी सरकार के इरादे बुलंद हैं, मगर राज्यसभा की राह इतनी आसान नहीं दिख रही है। एक ओर जहां मोदी सरकार इस बिल को राज्यसभा में पास कराना चाहेगी, वहीं इस बिल को पास होने से रोक कर कांग्रेस समेत कई पार्टियों को विपक्षी एकता की झलक दिखाने की भी अग्नि परीक्षा होगी।

मुस्लिम समाज में प्रचलित तीन तलाक की प्रथा शौहर को तीन बार तलाक बोलकर बीवी से निकाह खत्‍म करने का अधिकार देती है। ऐसे कई मामले सामने आए, जिसमें भारत ही नहीं, देश से बाहर रहने वाले लोगों ने भी फोन पर या फिर व्‍हाट्स एप के जरिये तीन बार तलाक बोलकर बीवी से निकाह खत्‍म लिया। तीन तलाक पीडि़त पांच महिलाओं ने 2016 में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस