1-  ताजा खबरः विवादों के बीच 'पद्मावत' से उठा पर्दा; करणी सेना के खिलाफ SC में अवमानना याचिका दायर
नई दिल्ली।
विवादों के बीच संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावत' से पर्दा उठ गया है। सिनेमाघरों में कड़े पहरे के बीच फिल्म हो रिलीज किया गया है। विरोध के बावजूद लोगों में डर देखने को नहीं मिल रहा है, कई जगह फिल्म का शो हाउसफुल भी है। हालांकि, भाजपा शासित 4 राज्यों में इसे नहीं दिखाया जा रहा है। इन राज्यों के एक भी मल्टीप्लेक्स में फिल्म का शो नहीं हुआ। फिल्म भले ही रिलीज हो गई हो, लेकिन फिल्म पर नेताओं की सियासत और करणी सेना का उपद्रव जारी है। पद्मावत मामले मे सुप्रीम कोर्ट मे करणी सेना और राज्यों के खिलाफ अवमानना याचिका दाखिल हुई है। इस मामले में कोर्ट से जल्द सुनवाई की मांग की गई है। जिसके बाद सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद करणी सेना का विरोध प्रदर्शन जारी है। कई जगह हिंसक झड़पें हुई हैं। बसों को आग के हवाले कर दिया गया है। सिनेमाघरों में आगजनी की खबरें भी सामने आईं हैं। राज्य सरकार इनसब को रोकने के नाकामयाब साबित हुई है।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

2- गणतंत्र दिवस से पहले इंडो-आसियान समिट आज

नई दिल्ली। चीन के साथ तल्ख होते रिश्तों के बाद अपनी 'लुक ईस्ट नीति' को धार देने में जुटे भारतीय कूटनीति के लिए अगले दो दिन बेहद महत्वपूर्ण होंगे। गुरुवार को एशिया के सबसे मजबूत संगठन आसियान के दस सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों या उनकी सरकारों के प्रमुखों के साथ पीएम नरेंद्र मोदी की बैठक पर एशिया की ही नहीं दूसरे महाद्वीपों के देशों की भी नजरें टिकी हुई हैं। चीन की बढ़ती ताकत के खिलाफ एशिया में हो रही लामबंदी को देखते हुए इस बैठक की अहमियत तो है ही लेकिन भारत इन देशों के रक्षा क्षेत्र में अपना बड़ा बाजार भी देख रहा है। ये सभी नेता शुक्रवार को गणतंत्र दिवस समारोह में राजकीय अतिथि होंगे। यह पहला मौका होगा जब गणतंत्र दिवस समारोह में एक साथ दस देशों के राष्ट्र प्रमुख राजकीय अतिथि होंगे।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

3- पद्म पुरस्कारों की घोषणा आज

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर गुरुवार को पद्म पुरस्कारों की घोषणा की जाएगी। ये पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में विशिष्ट सेवाओं और उल्लेखनीय कार्यों के लिए प्रदान किए जाते हैं। पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री की घोषणा हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है। कला, साहित्य, शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान व अभियांत्रिकी, लोक मामलों, सिविल सेवाओं, व्यापार और उद्योग के क्षेत्र में ये पुरस्कार दिए जाते हैं। एक अधिकारी ने बताया कि इन पुरस्कारों के लिए 15,700 लोगों ने आवेदन किए हैं।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

4.- विवादों में रहा 'पद्मावत' का सफर, भंसाली की इस एक 'न' की वजह से बदले करणी सेना के तेवर

मुंबई। बॉलीवुड के मशहूर निर्देशक संजय लीला भंसाली ने 'बाजीराव मस्तानी' को मिली बड़ी सफलता के बाद जब अपने ड्रीम प्रोजेक्ट के तौर पर पद्मावती (जिसका अब अधिकारिक नाम पद्मावत हो चुका है) को शुरू किया था, तो उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि ये फिल्म उनके लिए बड़ी चुनौती बन जाएगी। 2016 के दिसंबर में मुंबई में भंसाली ने जब इस फिल्म की शूटिंग शुरू की थी, तो उनके सेट पर खुद शाहरुख खान गुड लक कहने पहुंचे थे। जनवरी में जब जयपुर में फिल्म का बड़ा शेड्यूल शुरू हुआ था, तब तक इस फिल्म को लेकर सब कुछ सामान्य लग रहा था। इस चर्चा ने भी जोर नहीं पकड़ा था कि फिल्म में पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के रोमांस का कोई ड्रीम सिक्वेंस है। ये पद्मावत के विवाद की पहली चिंगारी थी, जिसकी परिणीती जयपुर में फिल्म के सेट पर करणी सेना के लोगों का हमला था। इस दौरान भंसाली से हाथापाई तक हुई और ये मामला तेजी से देश भर में गूंजा।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

5.गणतंत्र दिवस पर भारतमाता की पूजा को लेकर बंगाल सरकार सतर्क

कोलकाता। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर एक बार फिर प्रदेश भाजपा इकाई की ओर से देश की अराध्य देवी भारत माता की राज्यभर में पूजा किए जाने की योजना को लेकर तृणमूल कांग्रेस के साथ टकराव के आसार बढ़ गए हैं। सूत्रों के मुताबिक, राज्य प्रशासन को इस बात को लेकर अंदेशा है कि भाजपा की ओर से आयोजित किए जाने वाले इस पूजन कार्यक्रम से तनाव की स्थिति पैदा हो सकती है। हालांकि प्रशासन व वरीय अधिकारी इस कार्यक्रम से निपटने को लेकर बेहद उलझन की स्थिति में हैं, क्योंकि भारतमाता की पूजा को रोकने की स्थिति में गैर राष्ट्रवादी व गैर हिंदूवादी सरकार होने का दाग लगेगा। इसलिए इन कार्यक्रमों को लेकर प्रशासन अभी से ही फूंक-फूंक कर कदम रख रहा है। सूत्रों के अनुसार, पूजन कार्यक्रम को लेकर राज्य की खुफिया एजेंसियां तथा पुलिस व अन्य सुरक्षा एजेंसियां कड़ी निगरानी रख रही हैं। इधर, राज्य खुफिया विभाग ने जानकारी इकट्ठा करने के बाद राज्य सरकार को रिपोर्ट दी है कि भारतमाता की मूर्ति के पीछे लगाए जाने वाले नक्शे में पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान को भारत के हिस्से के तौर पर पेश किए जाने से बांग्लादेश की सीमा से लगे इलाकों में तनाव पैदा हो सकता है।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

6. रोजगार की योजनाओं का बढ़ेगा बजट

नई दिल्ली। रोजगार सृजन के मुद्दे पर विपक्ष की आलोचनाओं का सामना कर रही सरकार उन योजनाओं के आवंटन में अच्छी वृद्धि कर सकती है जिनसे युवाओं को रोजगार मिलता है। इन योजनाओं में मनरेगा से लेकर पढ़े लिखे युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए चल रही योजनाएं शामिल हैं। सूत्रों ने कहा कि रोजगार सृजित करने वाले कार्यक्रमों का बजट बढ़ना तय है। फिलहाल अलग-अलग मंत्रालयों में करीब आधा दर्जन ऐसी योजनाएं चल रही हैं जिनका सीधा संबंध रोजगार सृजन से है। इन योजनाओं के बजट में बड़ी वृद्धि होने का अनुमान है। सूत्रों ने कहा कि स्वरोजगार उपलब्ध कराने वाले कार्यक्रमों के बजट में भी बड़ी वृद्धि हो सकती है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना और स्टैंड अप इंडिया कार्यक्रम के लिए चालू वित्त वर्ष के बजट में प्रत्येक को 520 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया था। सूत्रों ने कहा कि अगले साल के बजट में इसमें अच्छी वृद्धि की जा सकती है। इसी तरह सरकार श्रम और रोजगार मंत्रालय के अधीन नौकरियों और कौशल प्रशिक्षण तथा कामगारों की सामाजिक सुरक्षा के लिए आम बजट में वृद्धि कर सकती है।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

7.सुप्रीम कोर्ट ने मांग मान ली तो पार्टी अध्यक्ष भी नहीं रहेंगे लालू प्रसाद

नई दिल्ली। अगर सुप्रीम कोर्ट ने दागी नेताओं के पार्टी अध्यक्ष और पार्टी पदाधिकारी बनने पर रोक की मांग स्वीकार कर ली तो सजायाफ्ता होने के कारण चुनाव लड़ने के अयोग्य हो चुके बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के हाथ से पार्टी अध्यक्ष का पद भी चला जाएगा। ऐसा हुआ तो अयोग्यता के बावजूद राजनीति में सक्रिय लालू प्रसाद यादव का वास्तव में राजनैतिक सन्यास होना तय है। दागियों और सजायाफ्ताओं के पार्टी बनाने और पार्टी पदाधिकारी बनने पर रोक के मामले पर सुप्रीम कोर्ट में दो जनहित याचिकाएं लंबित हैं। एक में सजायाफ्ता के पार्टी बनाने और पार्टी पदाधिकारी बनने पर रोक लगाने की मांग की गई है। और दूसरी में पांच साल की सजा के अपराध में अदालत से आरोप तय होने के बाद व्यक्ति को पार्टी बनाने और पार्टी पदाधिकारी बनने पर रोक मांगी गई है। पहले मामले में कोर्ट ने गत 1 दिसंबर को नोटिस जारी कर केन्द्र सरकार और चुनाव आयोग से जवाब मांगा था। इस पर अब 12 फरवरी को फिर सुनवाई होनी है। दूसरा मामला मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की संविधान पीठ के समक्ष विचाराधीन है।लालू के राजनैतिक भविष्य को संकट में डालने वाली ये दोनों ही याचिकाएं वकील और भाजपा नेता अश्वनी कुमार उपाध्याय की हैं।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

8.किम जोंग इस स्थिति में भी कर सकता है परमाणु बम का इस्तेमाल

वाशिंगटन। उत्तर कोरिया आत्मरक्षा के लिए ही परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं कर सकता है, बल्कि तानाशाह किम जोंग अपनी सत्ता खतरे में देखकर भी संहारक हथियारों के इस्तेमाल का आदेश दे सकते हैं। यह बात अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए के निदेशक माइक पोंपियो ने कही है। निदेशक ने कहा, अमेरिका तक पहुंचने वाली मिसाइल के एक परीक्षण से किम जोंग उन मानने वाले नहीं हैं। वह अपने हथियारों की गुणवत्ता और उनकी संख्या बढ़ाने के लिए लगातार लगे रहेंगे। एक साल का समय बहुत महत्वपूर्ण है। इस समय में उत्तर कोरिया अमेरिका पर हमले की पर्याप्त ताकत और गुणवत्ता हासिल कर सकता है। पोंपियो ने कहा कि अमेरिका की खुफिया और सैन्य एजेंसियां लगातार हालात पर नजर रख रही हैं। वे विकल्पों पर भी कार्य कर रही हैं। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को उनकी जानकारी दी जा रही है। बातचीत से उत्तर कोरिया को परमाणु निशस्त्रीकरण के लिए तैयार करने की संभावना खत्म होने पर वैकल्पिक उपाय अमल में लाए जाएंगे।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

9- तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन होगा भारतीय गेंदबाजों का टेस्ट, बल्लेबाजों ने बनाए सिर्फ 187 रन

जोहानसबर्ग। ओह, ऊप्स, आह..भारतीय टीम जब वांडरर्स की हरी-भरी पिच पर टॉस जीतने के बाद दक्षिण अफ्रीका के पांच तग़़डे तेज गेंदबाजों के सामने बल्लेबाजी कर रही थी तो स्टेडियम में बैठे गिनती के दर्शकों के मुंह से इसी तरह की आवाजें निकल रही थीं। पहले दो टेस्ट मैचों में अंतिम एकादश को लेकर आश्चर्यजनक फैसले करने वाले कप्तान विराट कोहली बुधवार को शुरू हुए सीरीज के आखिरी टेस्ट में पांच तेज गेंदबाजों के साथ उतरे थे। मंगलवार रात को हुई हल्की बारिश ने बाउंस और तेजी के लिए पहचानी जाने वाली यहां की घसियाली पिच को और खतरनाक बना दिया था। ऐसी परिस्थितियों में टॉस जीतने के बाद विराट के पास अपने तेज गेंदबाजी आक्रमण का प्रयोग करके मेजबानों को दबाव में डालने का अच्छा मौका था, लेकिन उन्होंने अपने बल्लेबाजों को दक्षिण अफ्रीका के बेहद खतरनाक तेज आक्रमण के सामने झोंक दिया। नतीजन, टीम इंडिया पहले दिन सिर्फ 187 रनों पर ऑलआउट हो गई। आज नजर भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर होगी।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

10. गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर आज दिल्ली की सीमाएं सील हो जाएंगी

गणतंत्र दिवस के मौके पर राजधानी दिल्ली के राजपथ पर रंग-बिरंगी झांकियां निकाली जाएंगी। भारतीय की सैन्य और सामरिक शक्ति का प्रदर्शन होगा और आशियान के सदस्य देशों के 10 मुख्य अतिथि भारत की बढ़ती ताकत का नजारा करेंगे। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर आज शाम दिल्ली की सीमाएं सील हो जाएंगी।

पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Edited By: Sanjeev Tiwari