जयपुर, जागरण संवाददाता। विश्व हिदू परिषद (विहिप) के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने सोमवार को फिर विवादास्पद बयान दिया है। उनका कहना है कि अजमेर दरगाह में तो मुसलमानों पर हमला नहीं होता तो अमरनाथ यात्रा के दौरान हिंदुओं पर क्यों हमला होता है? अमरनाथ यात्रा पर पत्थर पड़ेगा तो देश का हिंदू चुप नहीं बैठ सकता।

पत्रकारों से वार्ता में प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि मेरे कहने का मतलब स्पष्ट है कि भारत में कोई हिंदुओं पर हाथ नहीं डाल सकता। मैंने जो कहा उस पर कायम हूं और जिन्हें जो मैसेज देना था वो दे दिया। अमरनाथ के बेस कैंप में हिंसा की घटना पर तोगड़िया ने मुस्लिमों को चेताते हुए दोहराया कि वे 2002 के गुजरात दंगों को भूल सकते हैं लेकिन पिछले साल मुजफ्फरनगर में हुए दंगे तो याद होंगे। एक दिन पहले भी उन्होंने यही बयान दिया था। तोगड़िया ने कहा कि अगर आप हनुमान की पूंछ में आग लगाओगे तो लंका जल जाएगी। गोधरा की घटना के कारण गुजरात दंगे हुए। हिंदू युवती से दुष्कर्म की कथित घटना के चलते मुजफ्फरनगर दंगे हुए।

रविवार को तोगड़िया ने अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने वालों को खुली चेतावनी देते हुए कहा था कि हिंदुओं के धैर्य की परीक्षा न ली जाए। हिंदू भी ईट और पत्थर उठा सकता है। तोगड़िया ने आरोप लगाया कि जम्मू-कश्मीर सरकार आतंकियों पर कार्रवाई से बच रही है। उल्लेखनीय है कि बालटाल बेस कैप में सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 40 लोग घायल हो गए थे। हिंसा उस वक्त भड़की थी जब खच्चर चलाने वालों और लंगर लगाने वालों के बीच झड़प हो गई थी।

पढ़ें: अब राज्यपाल कुरैशी बोले. भगवान भी नहीं रोक सकते हैं दुष्कर्म

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप