ग्वालियर, एएनआइ। ग्वालियर के चिड़ियाघर में एक बाघिन ने तीन बच्चों को जन्म दिया है। यह शहर के गांधी प्राणी उद्यान चिड़ियाघर का मामला है। कोरोना महामारी के प्रकोप के चलते तीनों बच्चों को 30-40 दिनों के लिए आइसोलेशन में रखा गया है।

बंगाल सफारी की बाघिन शीला ने तीन शावकों को दिया जन्म

नॉर्थ बंगाल वाइल्ड एनिमल्स पार्क (बंगाल सफारी) की बाघिन 'शीला' ने बुधवार को सुबह-सुबह तीन शावकों को जन्म दिया। मां व नवजात शावकों, चारों की ही अलग से विशेष देखरेख की जा रही है। इन नए मेहमानों की आमद से पिता 'विभान' और दोनों बहनें 'रीका' व 'कीका' काफी खुश हैं।

यह वास्तव में बड़ी खुशी की बात है कि सिलीगुड़ी शहर से लगभग 10-11 किलोमीटर दूर पांच माइल में सेवक रोड किनारे 297 हेक्टेयर जंगली भूभाग में फैले विशाल 'बंगाल सफारी' पार्क में रॉयल बंगाल टाइगरों की संख्या अब चार से बढ़कर सात हो गई है। बता दें कि, इससे पहले 11 मई 2018 को भी 'शीला' ने तीन बच्चों रीका, कीका, व इका को जन्म दिया था। ये नामकरण खुद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने किया था। उन तीनों शावकों में से एक 'इका' की जन्मजात कमजोरी के कारण, पांच महीने बाद ही मौत हो गई।

रांची में बाघिन अनुष्का ने तीन बच्चों को दिया जन्म

अप्रैल महीने में लॉकडाउ के दौरान रांची के ओरमांझी स्थित भगवान बिरसा मुंडा जैविक उद्यान से लॉकडाउन के बीच एक अच्छी खबर आई है। बाघिन अनुष्का ने तीन बच्चों को जन्म दिया। इससे पहले वर्ष 2018 के अप्रैल माह में अनुष्का पहली बार मां बनी थी। उस वक्त भी उसने तीन ही बच्चों को जन्म दिया था। इन बच्चों के पिता नर बाघ मल्लिक और अनुष्का को वर्ष 2016 में जवाहरलाल नेहरू जूलोजिकल पार्क, हैदराबाद से वन्य प्राणी आदान-प्रदान योजना के तहत रांची लाया गया था। उस वक्त मल्लिक सात वर्ष और अनुष्का आठ वर्ष के थे। बाघिन का गर्भ काल साढे तीन महीने का होता है।

Posted By: Neel Rajput

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस