राज्य ब्यूरो, जम्मू। संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के कश्मीर पर भड़काऊ भाषण देने के अगले ही दिन शनिवार को आंतकियों ने जम्मू कश्मीर में तीन जगहों श्रीनगर, बटोत और गांदरबल में बड़े हमले किए। श्रीनगर में आतंकियों ने सीआरपीएफ के बंकर पर ग्रेनेड फेंका। वहीं, बटोत में आतंकियों ने ग्रेनेड हमला करने के बाद भाजपा नेता के घर में घुस उनके परिवार को बंधक बना लिया।

इसके बाद नौ घंटे चली मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने सभी नागरिकों को सुरक्षित निकाल तीन आतंकियों को मार गिराया। इस दौरान एक सुरक्षाकर्मी शहीद और दो अन्य जवान घायल हो भी हुए हैं। शहीद सुरक्षाकर्मी की पहचान राजेंद्र सिंह निवासी जैसलमेर, राजस्थान के रूप में हुई है। इसके अलावा गांदरबल में भी सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया।

बटोत में पीछा करते हुए तीन बार हुई मुठभेड़ 

सुबह करीब साढ़े सात बजे डोडा जिले से जम्मू की तरफ आ रही एक बस को बटोत में तीन आतंकियों ने रुकने का इशारा किया। लेकिन चालक ने बस को तेजी से निकाला और कुछ दूर जाकर सुरक्षाबलों को आतंकियों के बारे में जानकारी दी। इसके बाद जैसे ही सुरक्षाबलों मौके पर पहुंचे आतंकियों ने उन पर दो ग्रेनेड दागे। इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई, लेकिन आतंकी जंगल में भाग निकले। करीब एक किलोमीटर दूरी पर फिर से मुठभेड़ हुई, मगर आतंकी फिर भाग निकले। इसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके को घेरते हुए आतंकियों का पीछा जारी रखा। इस दौरान आसपास के सुरक्षा शिविरों को भी सचेत कर दिया गया।

भाजपा नेता के घर में घुसे आतंकी 

आतंकी नौ किलोमीटर भागने के बाद बटोत कस्बे में पहुंचे और भाजपा के स्थानीय नेता विजय कुमार के मकान में घुस गए। आतंकियों को घर में देख विजय कुमार के परिजन किसी तरह बाहर भाग गए, लेकिन विजय कुमार व एक अन्य वहीं पर रह गए। आतंकियों ने उन्हें बंधक बना लिया। सूचना के बाद मौके पर सुरक्षाबलों ने आतंकियों को चारों तरफ से घेर लिया गया। इसके बाद शुरू हुई मुठभेड़ के दौरान मकान में फंसे विजय और एक अन्य को बचाने में तीन सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। इनमें से एक बाद में अस्पताल में शहीद हो गए। इसके बाद सुरक्षाबलों ने घर में छिपे तीनों आतंकियों को मार गिराया।

संघ और भाजपा नेताओं की हत्या में वांछित थे आतंकी 

आइजी जम्मू रेंज मुकेश कुमार ने बताया कि मारे गए तीनों आतंकी स्थानीय हैं और हिजबुल मुजाहिदीन से संबंधित हैं। आतंकियों की पहचान उस्मान बिन जावेद उर्फ ओसामा, जाहिद और बिलाल डार उर्फ मोईन उल इस्लाम के रूप में हुई है। ओसामा और जाहिद दोनों किश्तवाड़ और बिलाल शोपियां का रहने वाला है। आसोमा दस लाख का इनामी आतंकी था और उसने ही बीते साल नवंबर माह के दौरान किश्तवाड़ में भाजपा नेता अनिल परिहार व उनके भाई और इसी साल नौ अप्रैल को आरएसएस कार्यकर्ता चंद्रकांत शर्मा और उनके अंगरक्षक को भी मौत के घाट उतारा था।

गांदरबल में दो आतंकी ढेर

एसएसपी गांदरबल खलील पोस्वाल ने बताया कि शुक्रवार रात गांदरबल के खौड़ पत्थर इलाके में एक अभियान छेड़ा गया था। रात करीब दो बजे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फाय¨रग शुरू कर दी। जिस इलाके में मुठभेड़ हुई वह अत्यंत दुर्गम है। इसमें दो आतंकी मारे गए हैं। एक का शव व हथियार बरामद कर लिया है। बर्फबारी के चलते ऑपरेशन रोका गया है।

श्रीनगर में ग्रेनेड हमला 

आतंकियों ने सुबह श्रीनगर के नवाकदल इलाके में सीआरपीएफ की 49वीं वाहिनी के एक बंकर पर ग्रेनेड फेंका, जो थोड़ी दूर गिरकर फटा। इससे कोई नुकसान नहीं हुआ। हमले के बाद आतंकी भाग निकले, जिनकी तलाश की जा रही है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021