चेन्नई, एएनआइ। आज के दौर में इंटरनेट की मदद से आप कुछ भी सीख सकते हैं। इस बात का जीता जागता उदाहरण हैं चेन्नई के रहने वाले निल ठोगुलुवा (Niall Thoguluva)। निल अभी केवल आठ साल के हैं और इतनी सी उम्र में वह 106 भाषाएं लिखना जानते हैं। उनका यह टैलेंट काफी दिलचस्प है और उससे भी ज्यादा दिलचस्प यह है कि इतनी छोटी सी उम्र में  वह 100 से ज्यादा भाषाओं पर महारत हासिल कर चुके हैं। 

निल ने ये भाषाएं यूट्यूब और इंटरनेट की मदद से सीखी हैं। उनका ये टैलेंट वाकई अद्भुत है। निल ने खुद बताया कि वह लगभग 106 भाषाएं लिखना जानते हैं और कम से कम 10 भाषाएं वह अच्छ से बोल सकते हैं। इसके अलावा उन्होंने इंटरनेशनल फोनेटिक एलफाबेट भी सीखा है। इंटरनेशनल फोनेटिक एलफाबेट का इस्तेमाल किसी भी भाषा के शब्द का उच्चारण को सीखने के लिए किया जाता है। 

निल के पिता शंकर ने बताया कि निअल ने इतनी छोटी सी उम्र में ही 100 से ज्यादा भाषाओं में महारत हासिल की है। नारायण ने आगे बताया कि निअल ने पिछले साल नई भाषाओं के बार में सीखना शुरू किया था। एक के बाद एक वह इंटरनेट की मदद से कई सारी भाषाएं सीखता गया। साथ ही निअल आजकल अपने माता-पिता को भी ये कौशल सीखा रहा है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Neel Rajput