नई दिल्ली, जेएनएन। आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  के कोर्ट फीस विवाद पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केजरीवाल के पास सफाई कर्मचारियों को देने के लिए पैसे नहीं है जबकि वकीलों की फीस भरने के लिए खूब पैसे हैं। 

जावड़ेकर ने कहा कि आपने (केजरीवाल) बदनामी की तो पैसा जनता क्यों भरेगी। सफाई कर्मचारियों को देने के लिए इनके पास पैसा नहीं है लेकिन करोड़ों के केस लड़ने का आदेश देते हैं। केजरीवाल को जनता के पैसे बर्बाद करने का हक नहीं है।

उन्होंने कहा कि अरुण जेटली वित्त मंत्री हैं लेकिन वित्त मंत्रालय उनके केस के लिए पैसा नहीं भर रहा है, बल्कि अरुण जेटली खुद पैसा दे रहे हैं। मेरी जानकारी के मुताबिक अरविंद केजरीवाल के खिलाफ मानहानि के 7 मामले हैं, तो क्या हर केस के लिए दिल्लीवाले पैसा दें।

उन्होंने कहा कि यही दिल्ली सरकार है जो कहती है कि हमारे पास डेंगू से लड़ने के लिए पैसे नहीं है, लेकिन तमिलनाडु में प्रचार करने के लिए पैसा है। यह दिल्ली वालों के पैसों पर डकैती के समान है। उन्होंने कहा कि जेठमलानी केजरीवाल से केस का पैसा न लें लेकिन बिल तो उन्होंने ही भेजा है न।

वहीं इस मामले पर कांग्रेस ने भी अरविंद केजरीवाल को घेरा है और कहा है कि दिल्ली की जनता जानना चाहती है कि केजरीवाल जनता पैसा अपने बचाव के लिए क्यों बर्बाद कर रहे हैं। उन्होंने ये भी सवाल उठाया है कि जब दिल्ली सरकार के पास वकीलों की एक टीम है फिर भी राम जेठमलानी जैसे महंगे वकील से केस की पैरवी कराने की क्या जरूरत पड़ गई। 

यह भी पढ़ें: जेटली मानहानि केस: जनता के पैसों से केस लड़ना चाहते है सीएम अरविंद केजरीवाल

Posted By: Abhishek Pratap Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप