इंदौर, जेएनएन। मध्य प्रदेश में इंदौर के चर्चित माय होम होटल का कर्ताधर्ता अमित सोनी और उसके साथी बंगाल व असम से महिलाओं को लाकर होटल में देह व्यापार करते थे। अपना दामन साफ रखने के लिए आरोपित महिलाओं को नौकरी पर रखते वक्त ही उनसे 100 रुपये के स्टांप पेपर पर सहमति पत्र लिखवा लेते थे। इसमें लिखा होता था कि वे अपनी मर्जी से होटल में नौकरी कर रही हैं और यहां गाना-बजाना करने वालों के साथ रहेंगी। इस सहमति पत्र की नोटरी भी करवाई जाती थी।

उक्त जानकारी मंगलवार को कोर्ट में पेश 489 पेज के चालान में सामने आई। एक दिसंबर 2019 को इंदौर पुलिस और प्रशासन की टीम ने संयोगितागंज क्षेत्र स्थित माय होम होटल पर छापामार कार्रवाई करते हुए वहां से 67 महिलाओं-युवतियों को बरामद किया था। इनसे होटल में बार डांसर के रूप में काम कराया जाता था। इन्हें होटल में चल रहे देह व्यापार में भी धकेल दिया जाता था। पुलिस ने होटल के मालिक जीतू सोनी, उसके बेटे अमित सोनी सहित 102 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। मंगलवार को इनमें से अमित सोनी सहित 43 आरोपितों के खिलाफ चालान पेश किया गया।

जिला अभियोजन अधिकारी मो. अकरम शेख ने बताया कि पुलिस की जांच में यह बात सामने आई है कि आरोपित महिलाओं से जिस स्टांप पर सहमति पत्र लिखवाते थे वे साईक्लोस्टाइल जैसे होते थे। यानी एक ही मैटर के दर्जनों स्टाम्प तैयार कर लिए जाते थे। इसमें मर्जी से नौकरी करने के अलावा महिला की तरफ से यह भी लिखा जाता था कि वह यहां काम करने वाले पुरुषों के साथ रहने के लिए तैयार है।

Posted By: Nitin Arora

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस