नई दिल्ली, एएनआइ। संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण की शुरुआत सोमवार को हुई। राज्यसभा में पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर विपक्ष ने खूब हंगामा किया जिसके कारण सदन की कार्यवाही कुछ ही घंटे चल सकी। इस बीच पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर नेताओं ने सत्र को जल्द खत्म करने की मांग भी की। साथ ही मंगलवार से सदन की कार्यवाही का समय भी बदल दिया गया और सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक का कर दिया गया। 

बता दें की संसद में हुए बिजनेस एडवाइजरी कमिटी की बैठक के दौरान तृणमूल कांग्रेस और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम ने उच्च सदन की कार्यवाही जल्द खत्म करने की मांग की। इसका समर्थन अन्य चुनावी राज्यों की पार्टियों ने भी किया लेकिन बीजद, राजद व समाजवादी पार्टी समेत कईयों ने इसपर आपत्ति जताई। 

हंगामेदार रही सदन की कार्यवाही

राज्यसभा की कार्यवाही के लिए मंगलवार से निर्धारित किए गए समय की जानकारी देते हुए सांसद वंदना चव्हाण ने बताया, 'विभिन्न पार्टी के सांसदों की ओर से आग्रह के मद्देनजर मंगलवार से राज्यसभा की कार्यवाही का समय सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक कर दिया गया है। इस दौरान सदन के सदस्य राज्यसभा में और गैलरी में बैठेंगे।' आज सदन में पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों पर चर्चा करने की मांग को लेकर कांग्रेस के हंगामे के बाद राज्यसभा की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित हो गई। बता दें कि विपक्ष के हंगामे की वजह से पहले सदन को दोपहर 1.30 बजे तक स्थगित किया गया था। इसके पहले विपक्ष के हंंगामे के कारण 11 बजे तक फिर दोपहर 1 बजे तक के लिए सदन की कार्यवाही को स्थगित किया गया था।

विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड्गे ने कहा-

आज  विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे ((Mallikarjun Kharge) ने सदन में कहा, 'पेट्रोल और डीजल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर और 80 रुपये प्रति लीटर है। LPG की कीमतें भी बढ़ गई हैं। एक्साइज ड्यूटी/सेस लगाने से 21 लाख करोड़ की राशि जमा हुई इसके कारण किसानों समेत पूरा देश मुश्किलों का सामना कर रहा है। कार्यवाही की शुरुआत के साथ ही सदन केे अध्यक्ष वेंकैया नायडू ने कहा, 'राज्यसभा में विपक्ष के नेता के तौर पर मल्लिकार्जुन का स्वागत करता हूं। वे देश में लंबे समय तक काम करने वाले नेताओं में से एक हैं।'  उन्होंने कहा, 'मैं सभी सदस्यों से सदन में उपस्थित रहने की अपील करता हूं, ताकि यहां होने वाले डिबेट में हिस्सा लेकर वो अपने ज्ञान को बढ़ाएं।

'अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस' मनाने की मांग

इससे पहले सोमवार, 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Womens Day) के मौके पर सदन के अध्यक्ष  ने कहा कि आज का दिन दुनिया भर में महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक योगदान व उपलब्धियों को मनाने और उन्हें सम्मानित करने का दिन है। भारतीय जनता पार्टी की सांसद सोनल मानसिंह ( BJP MP Sonal Mansingh) ने सदन में 'अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस' मनाने की भी मांग की।

सदन के अध्यक्ष ने कहा,'संसद की लाइब्रेरी इस साल अपने 100 साल पूरे करेगी, इसमें 14 लाख किताबें और सैकड़ों जर्नल हैं। मुझे बताया गया है​ कि संसद की लाइब्रेरी में जाने वाले सांसदों की संख्या काफी संतोषजनक नहीं है। मैं सांसदों से लाइब्रेरी का प्रभावी इस्तेमाल करने की अपील करता हूं।'

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021