नई दिल्ली,जागरण ब्यूरो । दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म कांड पीडि़ता के मां-बाप ने किशोर न्याय संशोधन विधेयक पारित होने का स्वागत किया है। इससे पहले दोनों ने राज्यसभा की दर्शक दीर्घा में सदन की कार्यवाही देखी थी।

पीडि़ता की मां आशा देवी ने कहा कि हालांकि संशोधन से हम संतुष्ट हैं। इससे भविष्य में जघन्य अपराध करने वाले किशोर दंडित हो सकेंगे। लेकिन हमें इस बात का दुख है कि हमारी बेटी के साथ जघन्य अपराध करने वाला किशोर तमाम मांगों व प्रयासों के बावजूद छूट गया है। उसे छोड़कर गलत नजीर पेश की गई है। फिर भी कुछ अच्छा तो हुआ है। कम से कम हमारी कोशिशों का कुछ परिणाम तो निकला है। उन्होंने कहा कि हमारी बेटी को न्याय नहीं मिला। छह माह पहले विधेयक पास हो जाता तो नाबालिग दोषी रिहा नहीं हो पाता।

Posted By: Sachin Bajpai