जागरण ब्यूरो, कोलकाता। बॉलीवुड की अमानुष, मेघे ढाका तारा, बरसात की एक रात जैसी फिल्मों के लेखक प्रसिद्ध बांग्ला साहित्यकार व उपन्यासकार शक्ति पद राजगुरु नहीं रहे। राजगुरु का बुधवार देर रात महानगर के नागेरबाजार स्थित एक निजी अस्पताल में निधन हो गया। वे 92 वर्ष के थे और गुर्दे की बीमारी से पीड़ित थे। उनके द्वारा लिखी गई एक दो नहीं सात किताबों पर फिल्में बनीं।

मशहूर फिल्म निर्देशक ऋतिक घटक और शक्ति सामंत से लेकर कई निर्देशक उनकी लेखनी के मुरीद थे। उनके उपन्यासों का हिंदी, तमिल और मलयालम भाषाओं में भी अनुवाद हुआ। राजगुरु का जन्म एक फरवरी 1922 में पश्चिम बंगाल के बांकुड़ा जिले में हुआ था। मुर्शिदाबाद से प्रारंभिक शिक्षा के बाद कलकत्ता विश्वविद्यालय से स्नातक किया और 1945 में लेखन कार्य शुरू किया। उनके निधन पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित कई शिक्षाविदों व साहित्यकारों ने शोक जताया है।

असम के लोकप्रिय गायक खगेन महंत का निधन

गुवाहाटी। असम के लोकप्रिय गायक व बिहू सम्राट खगेन महंत का गुरुवार को उनके आवास पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उनकी पत्नी अर्चना महंत और पुत्र अंगराग उर्फ पापोन महंत भी लोकप्रिय गायक हैं। उन्होंने कर्ड असमिया फिल्मों के लिए स्वर और संगीत दिया था। वे असमिया के पारंपरिक गायकी के मर्मज्ञ थे। डॉ भूपेन हजारिका के बाद वे असम के सबसे लोकप्रिय गायक थे। उनके सम्मान में शुक्रवार दोपहर एक बजे से कामरूप मेट्रो जिला बंद रखा गया है। उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार दोपहर बाद होगा। मुख्यमंत्री तरुण गोगोई सहित अन्य विशिष्ट लोगों ने शोक व्यक्त किया है।

पढ़ें: अभिनेत्री रितुपर्णा सेनगुप्ता ने शरीर दान करने का एलान किया