जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान के बीकानेर में देश का सबसे बड़ा अभिलेख म्यूजियम बनेगा। इस म्यूजियम में मुगल बादशाहों द्वारा राजपूत शासकों को लिखे गए 300 से अधिक हस्तलिखित शाही फरमान, 22 फीट लंबी पुरंदर की संधि, शिवाजी के औरंगजेब के दरबार को छोड़कर जाने, करीब एक हजार ताम्रपत्र और ऐतिहासिक बहियां प्रदर्शित की जाएंगी।

म्यूजियम में बनने वाली गैलेरी में रियासत कालीन पट्टे, राजपूत राजाओं के आपसी पत्र व्यवहार, पूर्व रियासतों व भारत के दुर्लभ नक्शों का चित्रण भी प्रदर्शित किया जाएगा। राज्य अभिलेखागार विभाग के निदेशक डॉ. महेंद्र खड़गावत ने बताया कि म्यूजियम में 17वीं व 18वीं शताब्दी के मूल अभिलेख प्रर्दिशत करने के लिए महत्वाकांक्षी योजना बनाई गई है।

देश में अपनी तरह का यह अलग म्यूजियम होगा। इससे शोधाíथयों को लाभ होगा। देशी-विदेशी पर्यटक इस म्यूजियम को देख सकेंगे। उन्होंने बताया कि म्यूजियम को तैयार करने के लिए गुड़गांव की एक कंपनी को काम सौंपा जा रहा है। प्रारंभिक रूप में करीब 11 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

यह भी पढ़ें: राजस्थान के महंत सुंदर दास महाराज के खिलाफ दुष्कर्म का केस

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस