जम्मू। पाकिस्तान से खून की होली खेलने आए आतंकी नावेद को आज भी फैयाज अहमद इट्टु उर्फ फैयाज वेल्डर की मेहमाननवाजी अच्छी तरह से याद है। फैयाज वेल्डर और ट्रक क्लीनर खुर्शीद अहमद के पकड़े जाने के पांच दिन बाद मंगलवार को एनआईए ने नावेद का सामना इन दोनों से करवाया तो उन्हें देखते ही नावेद ने पहचान लिया।

पढ़ेंः अातंकी नावेद ने कहा- जज साहब मैं कोठरी में बंद रहा तो मर जाउंगा

नावेद ने बताया कि ऊधमपुर के नरसू में हमले की पूरी साजिश फैयाज वेल्डर के घर में ही बनी थी और उनके साथ लश्कर का कश्मीर कमांडर अबु कासिम भी मौजूद था। उन्हें पाकिस्तान में बैठे हाफिज सईद का दबाव भी था, जो जल्द हमले को अंजाम देने के आदेश दे रहा था क्योंकि उन दिनों अमरनाथ यात्रा चल रही थी।

उन्हें यात्रा को निशाना बनाने का लक्ष्य दिया गया था, जो उनसे पूरा नहीं हो पा रहा था। फैयाज वेल्डर और खुर्शीद 28 नवंबर तक पूछताछ के लिए एनआईए की रिमांड पर हैं, जबकि नावेद और शौकत को कोट भलवाल जेल से दो दिन की रिमांड पर लाया गया है।

पढ़ेंः नावेद और शौकत दो दिन की पुलिस रिमांड पर

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस