हैदराबाद, एएनआई। देश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस के बीच पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया गया है। इस बीच समाचार एजेंसी ने एएनआई ने ट्वीट किया कि सीएम के चंदशेखर राव ने कहा है कि राज्य में 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म नहीं होगा। इसे तीन जून तक बढ़ाया जाएगा। बाद में समाचार एजेंसी एएआई ने दूसरी ट्वीट करते हुए कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री कार्यालय ने स्पष्टीकरण दिया है कि मुख्यमंत्री ने 14 अप्रैल के बाद दो हफ्ते के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का सलाह दी थी लेकिन इसपर कोई फैसला नहीं किया गया है। उन्होंने बीसीजी रिपोर्ट की वजह से ऐसा कहा था जिसने सलाह दी थी कि भारत में 3 जून तक लॉकडाउन रहना चाहिए।

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ देश का एकमात्र हथियार लॉकडाउन है और वह प्रधानमंत्री से इसकी अवधि को बढ़ाने की अपील करते हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की जान बचाने के लिए ऐसा करना जरूरी है।

सीएम ने कहा कि मैं देश में लॉकडाउन को 15 अप्रैल के बाद भी बढ़ाने के पक्ष में हूं क्योंकि हम आर्थिक समस्या से उबर सकते हैं लेकिन हम जानें फिर से रिकवर नहीं कर पाएंगे। सीएम ने कहा कि वह प्रधानमंत्री से अनुरोध करते हैं कि बिना किसी झिझक के वह लॉकडाउन बढ़ाने का फैसला लें।

 बता दें कि तेलंगाना में शुक्रवार को सबसे ज्यादा 75 पॉजिटिव केस सामने आए और दो लोगों की मौत हुई है। दोनों मौतें दिल्ली के तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों की हुई। पिछले चार दिनों में तेलंगाना में 145 मामले दर्ज किए गए हैं।

गौरतलब है कि तेलंगाना से मरकज में करीब 1030 लोग गए थे। इसमें 190 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।फिलहाल राज्य में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 229 है, जिसमें 82 फीसद तब्लीगी जमात के लोग हैं। इसमें ज्यादातर मरकज से लौटे लोग हैं। तब्लीगी जमात के करीब 500 लोगों की कोरोना जांच की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। इधर, रविवार को रंगारेड्डी में एक बुजुर्ग महिला की कोरोना से मौत हो गई। अब तक राज्य में कोरोना के करीब 32 मरीज ठीक हो चुके हैं।

उत्तरप्रदेश में भी बढ़ सकती है लॉकडाउन की अवधि

तब्लीगी जमात के लोगों की करतूत से प्रदेशभर के बाशिंदों को कुछ दिन की पाबंदियां और झेलनी पड़ सकती हैं। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमित मरीजों में अधिकांश तब्लीगी जमात के ही हैं। ऐसे में बेहद सतर्क सरकार सभी मरीजों को चिन्हित कर लेना चाहती है, जिसके लिए लॉकडाउन की अवधि को कुछ दिन बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है। लिहाजा, बहुत कम संभावना है कि 15 अप्रैल को लॉकडाउन खुले।

प्रदेश में कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की स्थिति का जायजा सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ अधिकारियों से लिया और जरूरी दिशा निर्देश दिए। शाम को लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कोरोना से बचाव व रोकथाम की समीक्षा की है। उन्होंने बताया कि तीन तरह की श्रेणी बनाकर सर्विलांस की प्रक्ति्रया निरंतर चल रही है। प्रथम श्रेणी में उन्हें रखा गया है, जो स्वयं संक्त्रमित हैं, जबकि दूसरी श्रेणी में सीधे उनके संपर्क में आए लोगों को रखा गया है। तीसरी श्रेणी में ऐसे लोगों को शामिल किया गया है, जो दूसरी श्रेणी के लोगों के संपर्क में रहे हैं।

वहीं, उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की कुल संख्या अब 305 तक पहुंच गई है। अवनीश अवस्थी ने बताया कि पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कुल 27 मामले सामने आए हैं। इसमें से 21 लोग तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं। उत्तर प्रदेश में अब कोरोना वायरस के कुल 305 मामले हो चुके हैं। अब तक सामने आए कुल मामलों में 159 मरीज तबलीगी जमात से जुड़े हुए हैं। उत्तर प्रदेश के साथ-साथ देशभर में भी पिछले तीन-चार दिनों में सामने आए मामले तबलीगी जमात से जुड़े लोगों के ही हैं।

 

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस