हैदराबाद, एजेंसी। हैदराबाद के उस्मानिया जनरल हास्पिटल (ओजीएच) में जूनियर डाक्टरों ने विरोध प्रदर्शन किया और अस्पताल में खराब बुनियादी ढांचे के खिलाफ मंगलवार 26 अक्टूबर को एक रैली निकाली। सोमवार 25 अक्टूबर को एक सीलिंग फैन गिरने के बाद विरोध प्रदर्शन की नौबत आ पहुंची, जब कुछ जूनियर डाक्टर डर्माटोलाजी(त्वचाविज्ञान) विभाग में काम कर रहे थे। इसमें एक डाक्टर घायल हो गया। डाक्टरों ने कहा कि यह एक बार की घटना नहीं है क्योंकि अतीत में भी ऐसी घटनाएं हुई हैं जहां छत सुरक्षित नहीं है और छत से पानी भी आता है।

विरोध प्रदर्शन करते हुए जूनियर डाक्टरों ने मंगलवार को काम करते हुए हेलमेट पहन लिया, जिससे वह अस्पताल परिसर में होने वाली अप्रिय घटनाओं के डर को व्यक्त कर रहे थे। इस घटना के बारे में बताते हुए, तेलंगाना जूनियर डाक्टर्स एसोसिएशन (टीजेयूडीए) के अध्यक्ष ने बताया कि यह डाक्टरों के कार्य नैतिकता और मनोबल को प्रभावित करता है। हम डर के मारे काम नहीं कर सकते। मरीज दहशत में हैं। आज यही है, कल कुछ भी हो सकता है।

26 अक्टूबर को एक शिकायत में, टीजेयूडीए ने उस्मानिया जनरल अस्पताल के अधीक्षक को लिखा और कहा, 'जैसा कि आप ओजीएच में त्वचाविज्ञान विभाग में हुई घटना के बारे में पहले से ही जानते हैं, हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि ऐसी घटनाएं हुई हैं अब अस्पताल में दिन-प्रतिदिन के ऐसे ही हाल बन गए हैं। हम नहीं चाहते कोई बड़ी घटना हो, जब ऐसा होगा तो अधिकारियों के पास कोई जवाब नहीं होगा। कृपया इस मुद्दे को सबसे पहले देखें।'

अपना विरोध दर्ज कराने के बाद भी जूनियर डाक्टर्स एसोसिएशन का कहना है कि उन्हें उम्मीद नहीं है कि कोई बदलाव होगा, क्योंकि पिछली शिकायतों में भी कोई बड़ा एक्शन नहीं देखा गया था। बता दें कि ओजीएच की पुरानी इमारत करीब 100 साल पुरानी है और इस बिल्डिंग को गिराने के संबंध में ही एक सुनवाई फिलहाल तेलंगाना हाई कोर्ट में चल रही है।

Edited By: Nitin Arora