लखनऊ, जेएनएन। कॉर्पोरेट सेक्टर की देश की पहली ट्रेन लखनऊ से नई दिल्ली के बीच अक्टूबर के पहले सप्ताह में रफ्तार भरने लगेगी। रेलवे बोर्ड ने चार और पांच अक्टूबर की तिथि का प्रस्ताव रेलमंत्री पीयूष गोयल को भेज दिया है। इन दोनों में से एक तिथि के तय होते ही ऑपरेशन से जुड़ी तैयारियां शुरू कर दी जाएंगी। लखनऊ से इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई जाएगी। रेल मंत्रालय लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाने की तैयारी कर रहा है। 

तेजस क्लास ट्रेन को सप्ताह में छह दिन लखनऊ से नई दिल्ली तक चलाया जाएगा। इस ट्रेन का किराया सहित पूरी पॉलिसी पर नौ सितंबर को नई दिल्ली में होने वाली बैठक में निर्णय हो जाएगा। रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक तेजस क्लास ट्रेन के लिए रेलमंत्री पीयूष गोयल को प्रस्ताव भेज दिया गया है। बोर्ड चार अक्टूबर को नवरात्र पर इस ट्रेन को चलाना चाहता है।

यदि मंत्री ने पांच अक्टूबर का समय दिया तो उसी के हिसाब से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी समय मांगा जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार का सहयोग भी तेजस क्लास ट्रेन की ब्रांडिंग में मिलेगा। बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक इस ट्रेन का किराया तय हो गया है। नौ सितंबर को दिल्ली में होने वाली बैठक में किराये को अंतिम स्वीकृति देने के साथ ही टिकटिंग की व्यवस्था, खान-पान, टीटीई सहित सभी पहलुओं को आइआरसीटीसी के अधिकारी अंतिम रूप दे देंगे।

लखनऊ जंक्शन पर भी तैयारी शुरू
तेजस क्लास ट्रेन का रैक लखनऊ में 30 जून को आया था। इसके बाद रैक को पहले गोमतीनगर और उसके बाद ऐशबाग कोचिंग डिपो में खड़ाकर दिया गया। तेजस क्लास ट्रेन को लखनऊ जंक्शन के प्लेटफार्म छह से चलाया जाएगा। वाई-फाई और मूविंग टॉकीज के जरिये रेलवे प्री लोड कार्यक्रम की सुविधा यात्रियों को देगा।

यह भी पढ़ेंः बुलेट ट्रेन के लिए रेलवे ने बढ़ाई 'रफ्तार', अब चीनी बुलेट दौड़ाने की तैयारी

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस