अमरावती, प्रेट्र। आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (YSRCP) के कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को कथित रूप से मंगलगिरी स्थित तेलुगु देसम पार्टी (TDP) के मुख्यालय, विशाखापत्तनम व अन्य जगहों पर स्थित कार्यालयों में तोड़फोड़ की। तेदेपा अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) ने इस घटना को राज्य प्रायोजित आतंकवाद करार दिया और विरोध में बुधवार को प्रदेश बंद की घोषणा की।

गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिख की शिकायत

तेदेपा अध्यक्ष नायडू ने देश के गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) को पत्र लिखकर पूरे मामले से अवगत कराते हुए कार्रवाई की भी मांग की है। उन्होंने राज्य की कानून व्यवस्था ध्वस्त होने का आरोप लगाया है। पत्र के जवाब में शाह ने इस मामले को देखने का आश्वासन देने के साथ नायडू को पुलिस में औपचारिक शिकायत दर्ज कराने को कहा है।

वाईएसआर कांग्रेस का आरोप

वाईएसआर कांग्रेस का आरोप है कि विपक्षी दल के प्रवक्ता ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इससे पहले, मंगलवार सुबह ही तेदेपा प्रवक्ता के पट्टाभिराम ने पूर्व मंत्री नक्का आनंदा बाबू को पुलिस नोटिस भेजे जाने पर आपत्ति दर्ज कराई। बाबू ने कथित तौर पर जगन के विरुद्ध विवादास्पद टिप्पणी की थी।

मुख्यमंत्री लें हमले की जिम्मेदारी

आंध्र प्रदेश तेदेपा के अध्यक्ष नायडू ने कहा, मुख्यालय, अन्य कार्यालयों और पार्टी नेताओं के आवासों पर वाईएसआर कांग्रेस के गुंडों द्वारा किए गए हमले की पार्टी कड़ी निंदा करती है। हमें समझ में नहीं आता कि हम लोकतांत्रिक देश में रहते हैं या फासीवादी देश में। मुख्यमंत्री को इन हमलों की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

Edited By: Monika Minal