जागरण संवाददाता, कोलकाता। अभिनेत्री से सांसद बनीं सांसद नुसरत जहां के खिलाफ मौलवियों के फतवे पर आग बबूला हुई बांग्लादेश की विवादित लेखिका तसलीमा नसरीन ने ट्वीट कर कई सवाल दागे हैं। उन्होंने कहा कि अगर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हिजाब पहनती हैं तो जायज है, लेकिन नुसरत अपने पति निखिल के साथ पूजा-अर्चना करें तो यह गलत है। मैं जानना चाहती हूं इसमें क्या बुराई है?

मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर रहने वाली तसलीमा ने कहा कि जब एक गैर मुस्लिम ममता बनर्जी हिजाब पहनती हैं तो मौलाना खुश होते हैं लेकिन जब एक मुस्लिम नुसरत जहां पूजा में शामिल होती हैं तो उन्हें दिक्कत होती है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के हिजाब पहन अल्लाह की इबादत से खुश मुस्लिम धर्मगुरु इसे उनका धर्मनिरपेक्ष कदम करार देते हैं। लेकिन जब एक गैर हिंदू नुसरत जहां एक हिंदू की तरह पूजा में हिस्सा लेती हैं और नृत्य करती हैं तो इससे मौलाना नाराज हो जाते हैं और इसे गैर इस्लामिक बता देते हैं।

नुसरत को बदल लेना चाहिए अपना धर्म

उल्लेखनीय है कि अष्टमी और नवमी पर सांसद नुसरत जहां अपने पति निखिल जैन के साथ महानगर के एक पूजा मंडप में ढाक बजाते और नृत्य करती नजर आई थीं। इस पर दारुल उलूम देवबंद के मौलाना ने कहा कि नुसरत जहां को अपना धर्म बदल लेना चाहिए।

मौलवी ने कहा कि नुसरत ने ऐसा पहली बार नहीं किया है। वह पहले भी ऐसे कार्यक्रमों में दिखती रही हैं। इस्लाम का जो हुक्म है उसके मुताबिक अल्लाह के अलावा किसी और की इबादत हराम है। उन्हें अपना नाम और धर्म बदल लेना चाहिए। वह पहले ही गैर-मुसलमान से शादी कर चुकी हैं। इस्लाम को ऐसे लोगों की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है।

बता दें कि टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने हिंदू रीति-रिवाज के साथ हाल ही में कोलकाता के व्यापारी निखिल जैन से शादी की थी। दुर्गा अष्टमी पर नुसरत अपने पति के साथ दुर्गा पूजा में शामिल हुईं। नवरात्र के दौरान सांसद नुसरत जहां ने सोशल मीडिया पर अपनी कुछ तस्वीरें और वीडियो शेयर की जिसमें वह दुर्गा पूजा के अवसर पर पति निखिल के साथ पारंपरिक परिधानों में पूजा-अर्चना करती दिखीं थी।

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप