भोपाल, एएनआइ। वेब सीरीज 'तांडव' के खिलाफ विरोध लगातार बढ़ता जा रहा है। एक के बाद एक कई नेता इसके विरोध में उतर रहे हैं। इस बीच मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने भी गुरुवार को इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस तरह की चीजें हम बिलकुल बर्दाशत नहीं करेंगे। बता दें कि अमेजन प्राइम इंडिया पर रिलीज वेब सीरीज तांडव को लेकर कई शिकायतें दर्ज की गई हैं। इस पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया गया है, जिसके चलते सोशल मीडिया से लेकर सड़कों तक लोग विरोध जता रहे हैं।

नरोत्तम मिश्रा ने संवाददाताओं से कहा, 'जब हम किसी चीज को लेकर प्रतिक्रिया देते हैं तो ये कहते हैं कि हम अराजकता फैला रहे हैं। आप ऐसे कार्य क्यों करते हैं कि इस तरह की प्रतिक्रिया की आवश्यकता हो? हम ऐसी चीजों को बिलकुल भी बर्दाशत नहीं करेंगे। अदालत ने इन्हें राहत प्रदान की है इसलिए ये सुरक्षित हैं। वरना सलाखों के पीछे होते।'

बुधवार को, मिश्रा ने कहा कि मध्य प्रदेश सरकार अमेजन प्राइम इंडिया की वेब सीरीज के खिलाफ मामला दर्ज करेगी। वहीं, वेब सीरीज के खिलाफ दर्शकों द्वारा व्यक्त की गई चिंताओं पर संज्ञान लेते हुए, फिल्म निर्माता अली अब्बास जफर ने सोमवार को माफी मांगी और स्पष्ट किया कि तांडव एक काल्पनिक कहानी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि 'तांडव' के कलाकारों और चालक दल का किसी भी समुदाय, जाति या धर्म के लोगों की भावनाओं को आहत करने का कोई इरादा नहीं था। बॉम्बे हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश में दर्ज एफआइआर में 'तांडव' के निर्देशक अली अब्बास जफर और तीन अन्य को तीन सप्ताह की अग्रिम जमानत दे दी है।

गौरतलब है कि 15 जनवरी को अमेजन प्राइम इंडिया पर 'तांडव' वेब सीरीज रिलीज हुई थी। हिंदू समुदाय की धार्मिक भावनाओं का अपमान करने के आरोपों को लेकर जमकर विरोध किया जा रहा है। नरोत्तम मिश्रा से पहले मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने अमेजन के सीइओ जेफ बेजोस को खुला खत लिखकर सीरीज को ना हटाने की स्थिति में अमेजन के बहिष्कार की चेतावनी दी थी। इसके अलावा सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से भी इस मामले में एक्शन लेने की मांग की थी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप