Move to Jagran APP

जहरीली शराब मामले पर तमिलनाडु विधानसभा में मचा बवाल, विपक्ष ने की जमकर नारेबाजी; स्पीकर ने AIADMK विधायकों को निकाला बाहर

तमिलनाडु के कल्लाकुरिची में अन्नाद्रमुक विधायकों ने सदन के अंदर नारे लगाए। जिसके बाद उन्हें विधानसभा से बाहर निकालने का आदेश दिया गया। ये नारे दरअसल शराब मामले पर चर्चा की मांग करते हुए लगाए गए। विधानसभा के बाहर भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात थे। जहरीली शराब पीने के मामले में अब तक 47 लोगों की मौत हो चुकी है।

By Agency Edited By: Shubhrangi Goyal Fri, 21 Jun 2024 12:17 PM (IST)
विरोध कर रहे विधायकों को रोकते हुए पुलिस (फोटो-एएनआई)

एएनआई, चेन्नई। तमिलनाडु के कल्लाकुरिची में जहरीली शराब का मामला तूल पकड़ रहा है। इस मामले में अब तक 47 लोगों की मौत हो गई है और लगभग 100 लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। आज विधानसभा सत्र के दूसरे दिन अन्नाद्रमुक विधायकों (AIADMK) ने जहरीली शराब मामले में सदन के अंदर नारे लगाए। ये नारे शराब मामले पर चर्चा की मांग करते हुए लगाए गए। 

वहीं स्पीकर अप्पावु ने विधानसभा के अंदर सुरक्षा कर्तव्य निभाने वाले वॉच एंड वार्ड स्टाफ को अन्नाद्रमुक विधायकों को विधानसभा हॉल से बाहर निकालने का आदेश दिया। विधानसभा के बाहर भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात थे।

The protesting MLAs are being removed by the Police. Visuals from the Assembly premises, outside the House where proceedings took place… pic.twitter.com/vmTNG6WCy0— ANI (@ANI) June 21, 2024

विधानसभा सदन में दी गई थी श्रद्धांजलि

कल विधानसभा सत्र के दौरान कल्लाकुरिची में जहरीली शराब पीने से मरने वालों को श्रद्धांजलि दी गई। विधायकों ने 17 पूर्व विधायकों और मौजूदा द्रमुक विधायक पुगझेंथी को भी श्रद्धांजलि दी, जिनका निधन हो गया था। उन्होंने कुवैत अग्निकांड के पीड़ितों को भी श्रद्धांजलि दी, जिसमें तमिलनाडु के सात लोग शामिल थे। राज्य विधानसभा अध्यक्ष अप्पावु ने शोक संदेश पढ़ा जिसके बाद सदस्य श्रद्धांजलि देने के लिए मौन खड़े रहे।

हिरासत में तीन आरोपी

बता दें कि विधानसभा सत्र 29 जून तक चलने वाला है। इससे पहले आज, कल्लाकुरिची जहरीली शराब मामले में तीन आरोपियों को 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया और कुडालोर सेंट्रल जेल ले जाया गया। इससे पहले, कल्लाकुरिची पुलिस ने आरोपी को जिला संयुक्त अदालत में पेश किया था

गोविंदराज, दामाडोरन और विजया नाम के तीन आरोपियों को जिला अदालत के न्यायाधीश श्रीराम ने 5 जुलाई तक 15 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपियों को कुडालोर केंद्रीय जेल भेज दिया गया।

मृतक के परिजन को 10 लाख का एलान

इस मामले में मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने प्रत्येक मृतक के परिजन को 10 लाख रुपये देना की का एलान किया है। वहीं अस्पताल में इलाज करा रहे लोगों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें:  तमिलनाडु में जहरीली शराब से अबतक 34 लोगों की मौत, सीएम ने किया मुआवजे का एलान; कल हाईकोर्ट में सुनवाई

यह भी पढ़ें: भारत ने किया चीन के साथ खेला! गलवान घाटी हिंसा के बाद ड्रैगन को कुछ इस तरह सिखाया जा रहा सबक