जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। गुरूवार की सुबह चक्रवाती तूफान 'वायु' के गुजरात तट से टकराने और इस दौरान आसपास के राज्यों में भारी आशंका को देखते हुए केंद्र सरकार इससे बचाव की तैयारियों में जुट गई है। गृहमंत्री अमित शाह और कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा ने अलग-अलग उच्च स्तरीय बैठक में हालात से निपटने की तैयारियों की समीक्षा की। अमित शाह ने गुजरात सरकार और दीव प्रशासन को तूफान के टकराने वाले इलाकों से हर व्यक्ति को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने और कम-से-कम नुकसान सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

गुजरात और दीव के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार 'वायु' के 13 जून की सुबह को 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पोरबंदर और महुवा के बीच वेरावल और दीव के क्षेत्र के आसपास गुजरात तट से टकराने की आशंका है। इससे गुजरात के तटीय जिलों में भारी वर्षा और एक से डेढ़ मीटर ऊंचा समुद्री ज्वार उठने की आशंका जताई जा रही है। जाहिर है इससे कच्छ, द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गिर-सोमनाथ, अमरेली और भावनगर जिले के निचले तटीय क्षेत्रों में बाढ़ की संभावना है। मौसम विभाग को लगातार बुलेटिन जारी कर तूफान के बारे में ताजा जानकारी उपलब्ध कराने को कह दिया गया है।

बैठक के दौरान अमित शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित रूप से बाहर निकालना और बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल आदि आवश्यक सेवाओं के रखरखाव सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आपात स्थिति से निपटने के लिए लिये 24 घंटे काम करने वाला नियंत्रण कक्ष स्थापित होना चाहिए। वहीं कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक भी बुलाई, जिसमें वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये गुजरात के मुख्य सचिव और दीव के प्रशासक के सलाहकार भी शामिल थे।

दीव और गुजरात में बुधवार की सुबह से तूफान के प्रभाव में आने वाले इलाकों से लोगों को निकालने और सुरक्षित जगह पहुंचाने का काम शुरू करने का आश्वास दिया है। गुजरात के मुख्य सचिव के अनुसार एक दिन में तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने की तैयारी है। वहीं दीव ने तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का भरोसा दिया है।

केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा बुधवार को एक बार फिर इन तैयारियों पर हुए काम की समीक्षा करेंगे। राज्य सरकार के अनुरोध पर एनडीआरएफ की टीमों को पूरे साजो-सामान के साथ तैनात कर दिया गया है। इसके साथ ही भारतीय तटरक्षक बल, नौसेना, थल सेना और वायु सेना की इकाइयों को भी तैयार रहने को कहा गया है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप