नई दिल्ली, एजेंसी। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को पाकिस्तान में छिपे बैठे आतंकी सरगना सैयद सलाहुद्दीन की जम्मू-कश्मीर स्थित 13 संपत्तियां जब्त कर लीं। सलाहुद्दीन विश्वभर में प्रतिबंधित आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का प्रमुख है।

ईडी ने मनी लांड्रिंग एक्ट के तहत 1.22 करोड़ रुपए मूल्य की इन संपत्तियों को अस्थाई रूप से जब्त करने का आदेश दिया। ये बांदीपोरा के रहने वाले मोहम्मद शफी शाह व राज्य के छह अन्य लोगों के नाम पर हैं। इन सभी पर हिजबुल के लिए काम करने का आरोप है। प्रवर्तन निदेशालय के अनुसार सलाहुद्दीन, शाह व अन्य के खिलाफ दायर गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम कानून (यूएपीए) के तहत दायर आरोप--पत्र का संज्ञान लेने पर यह मनी लांड्रिंग कानून के उल्लंघन का उपयुक्त मामला पाया गया।

आतंकियों की करता है फंडिंग
ईडी द्वारा जारी बयान के अनुसार हिजबुल मुजाहिदीन जम्मू--कश्मीर में सबसे ज्यादा सक्रिय आतंकी संगठन है और वह आतंकियों व अलगाववादियों की फंडिंग करता है। इसका स्वयंभू कमांडर सैयद सलाहुद्दीन पाकिस्तान के रावलपिंडी में रहता है और वह भारत में आतंकी गतिविधियां करता है।

आतंकियों के लिए वह पैसा एक ट्रस्ट जेकेएआरटी (जम्मू--कश्मीर पी़ड़ि‍त राहत ट्रस्ट) के माध्यम से आईएसआई व अन्य पाकिस्तानी संस्थाओं की मदद से जुटाता है। जांच में पाया गया है कि भारत में 'टेरर फंड' हवाला व अन्य तरीकों से आता है। सलाहुद्दीन की बेनामी संपत्तियों का मालिक मोहम्मद शफी शाह फिलहाल टेरर फंडिंग के मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है।

Posted By: Arun Kumar Singh