नई दिल्‍ली, जेएनएन। भारत में पिछले कुछ सालों में 'स्‍वच्‍छता' मोदी सरकार प्रमुख मुद्दों में शुमार रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'स्‍वच्‍छ भारत अभियान' से देशभर में स्‍वच्‍छता को लेकर लोगों में जागरूकता बढ़ी है। स्‍वच्‍छता को लेकर देश के कई शहरों ने गजब का उत्‍साह देखने को मिला है। केंद्र सरकार की ओर से कराए गए स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 में एक बार फिर इंदौर को सबसे स्वच्छ शहर चुना गया है। मध्य प्रदेश के इस शहर ने लगातार तीसरे साल सबसे स्वच्छ शहर का तमगा हासिल किया है। सर्वे में छत्तीसगढ़, झारखंड और महाराष्ट्र को स्वच्छता में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले देश के तीन राज्यों में गिना गया है। वहीं, उत्तराखंड का गौचर भारत में गंगा के किनारे बसा सर्वश्रेष्ठ कस्बा बना है।

भोपाल सबसे स्‍वच्‍छ राजधानी

स्वच्छता के क्षेत्र में झारखंड को बेस्ट परफॉर्मिंग स्टेट श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार मिलने पर प्रदेश की सवा तीन करोड़ जनता को बधाई दी है। उन्होंने लिखा है कि आपके प्रयासों से ही झारखंड ने स्वच्छता के क्षेत्र में नया कीर्तिमान रचा है। इसके अलावा भोपाल को सबसे साफ राजधानी चुना गया। भोपाल के लिए भी यह हैट्रिक थी। भोपाल के महापौर आलोक शर्मा और भोपाल नगर निगम के आयुक्त बी विजय दत्ता ने पुरस्कार प्राप्त किया।

इस श्रेणी में अहमदाबाद सबसे स्‍वच्‍छ शहर

दस लाख से अधिक जनसंख्या श्रेणी में अहमदाबाद को सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया। इसके अलावा उज्जैन को 3 से 10 लाख की जनसंख्या श्रेणी में सबसे स्वच्छ शहर चुना गया। दिल्ली छावनी को भारत की सबसे स्वच्छ छावनी चुना गया। स्वच्छा सर्वेक्षण 2019 में भारत के शीर्ष 3 सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शनकारी राज्यों में छत्तीसगढ़, झारखंड और महाराष्ट्र उभरे।

उत्तराखंड का गौचर ‘सर्वश्रेष्ठ गंगा शहर'

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बुधवार को एक कार्यक्रम में ‘द स्वच्छ सर्वेक्षण अवार्ड' 2019 प्रदान किया। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद क्षेत्र को ‘सबसे स्वच्छ छोटा शहर' घेाषित किया गया। उत्तराखंड के गौचर को ‘सर्वश्रेष्ठ गंगा शहर' घोषित किया गया।

हरदीप पुरी ने इंदौर को दी बधाई

बता दें कि केन्द्रीय आवास एवं शहरी मामलों का मंत्रालय स्‍वच्‍छता को लेकर ये पुरस्कार प्रदान करता है। केन्द्रीय आवास मंत्री हरदीप पुरी ने इंदौर को बधाई देते हुए कहा, 'बेहद शानदार! लगातार तीसरे साल इंदौर भारत का सर्वाधिक स्वच्छ शहर बना। स्वच्छ भारत को जन आंदोलन बनाने के लिए इंदौर के स्वच्छाग्राहियों को उनकी बेजोड़ लगन और भागीदारी के लिए बधाई।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस