माला दीक्षित, नई दिल्ली। सिनेमाघर और रेस्त्रां जैसे पब्लिक प्लेस में जाने वाले लोगों की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने चिंता जताई है। और ऐसी जगहों पर आगजनी जैसी अप्रिय घटनाओं को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए जाने की बात कही है। कोर्ट ने गुरुवार को दिल्ली के उपहार सिनेमा घर अग्निकांड और मुंबई में रेस्टोरेंट में आगजनी की ताजा घटना में हुई निर्देशों की मौत पर अफसोस जताते हुए कहा है कि संबंधित अथारिटीज को नियमों का कड़ाई से पालन करना चाहिए ताकि भविष्य में किसी भी जगह ऐसी घनटाएं न हों।

न्यायमूर्ति आरके अग्रवाल व न्यायमूर्ति अभय मनोहर सप्रे की पीठ ने लोगों की सुरक्षा को लेकर ये टिप्पणियां गुरुवार को कर्नाटक लाइव बैंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन की याचिका खारिज करते हुए अपने फैसले में कीं। कोर्ट ने होटल रेस्त्राओँ के लाइसेंस के लिए जारी बंगलूरु के कमिश्नर के आदेश 2005 को वैध ठहराया है।

कोर्ट ने कमिश्नर को आदेश दिया है कि वह कड़ाई से नियमों का पालन सुनिश्चित करे। पीठ ने कहा कि जिन रेस्त्राओं ने अभी तक लाइसेंस नहीं लिया है उन्हें कुछ समय दिया जाए लेकिन समय बीतने के बाद भी अगर वे लाइसेंस नही लेते तो उन्हें नोटिस देकर उनका रेस्त्रा बंद कर दिया जाए। एसोसिएशन ने पक्षपात और रोजगार की आजादी के मौलिक अधिकार की दुहाई देते हुए 2005 के कमिश्नर के आदेश को चुनौती दी थी।

कोर्ट ने कहा कि आम जनता की सुरक्षा और हित एक अकेले व्यक्ति के अधिकारों से ऊपर होते हैं। किसी व्यक्ति के व्यापार करने पर रोक नहीं है, लेकिन अगर वह अपना बिजनेस चलना चाहता है तो उसे उस बारे में तय नियम कानूनों का पालन करना होगा। कोर्ट ने मुंबई की ताजा घटना का जिक्र करते हुए कहा कि सुरक्षा उपायों का पालन न करने के कारण रेस्त्रां में बैठे कितने निर्दोष लोगों की जान चली गई। ऐसी घटना कुछ वर्षो पहले दिल्ली में उपहार सिनेमाघर में घटी थी जहां सुरक्षा उपाय न होने के कारण काफी लोगों की मौत हो गई थी। पीठ ने कहा कि ऐसी घटनाएं नागरिकों के जेहन से नहीं उतरती। इससे सभी संबंधित अथारिटीज को एक संदेश जाता है कि वे नियमों का कड़ाई से पालन करें ताकि भविष्य में कही किसी जगह ऐसी घटना न घटे।

कर्नाटक के मामले में कोर्ट ने कहा कि नियमों में रेस्त्रा के आसपास रहने वाले लोगों की सुरक्षा और सुविधा के बावत तो नियम हैं लेकिन ध्वनि प्रदूषण के बारे में नियम नहीं है। कोर्ट ने कमिश्नर को निर्देश दिया है कि वे सुनिश्चित करेंगे कि रेस्त्रां में लाइव म्यूजिक परफार्मेस से आसपास रहने वाले लोगों को ध्वनि प्रदूषण नही होगा। इसके अलावा कोर्ट ने विशेषतौर पर किसी भी तरह से आगजनी की घटना को रोकने के लिए विशेषज्ञों की मदद से पर्याप्त उपाय किये जाने के आदेश दिये हैं। 

Posted By: Manish Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस