नई दिल्ली (जेएनएन)। आय से अधिक संपत्ति मामले में एआईएडीएमके की महासचिव वीके शशिकला को सुप्रीम कोर्ट ने दोषी करार दिया है। कोर्ट ने उन्हें चार वर्ष की सजा सुनाई है। साथ ही उनपर दस करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। कोर्ट ने अपने आदेश में शशिकला को तुरंत सरेंडर करने को भी कहा है।

कोर्ट के इस फैसले के साथ ही अब यह साफ हो गया है कि वह अब छह वर्ष तक कोई चुनाव नहीं लड़ सकती हैं। लिहाजा उनका तमिलनाडु की सत्ता के शीर्ष पर बैठने का सपना भी अधूरा रह गया। माना जा रहा है कि अब तमिलनाडु में सत्ता की कमान पन्नीरसेलवम के हाथों में ही रहेगी। हालांकि इसके लिए उन्हें फ्लोर टेस्ट से गुजरना पड़ सकता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मद्देनजर तमिलनाडु में उनके आवास के बाहर काफी संख्या में पुलिस लगाई गई थी।

शशिकला ने पन्नीरसेलवम को पार्टी से निकाला, पलानीसामी को चुना नया नेता

सुप्रीम कोर्ट की बैंच के दो जजाें ने यह आदेश सुनाते हुए पूर्व में दिए हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया है और ट्रायल कोर्ट के फैसले को बरकरार रखा है। इस मामले में जहां राज्य की पूर्व सीएम जयललिता को मुख्य आरोपी बनाया गया था, वहीं शशिकला को सह-आरोपी बनाया गया था।

शशिकला को दोषी ठहराए जाने के बाद पन्नीरसेलवम खेमे और डीएमके में खुशी की लहर

ट्रायल कोर्ट ने इस मामले में दोनों को दोषी करार देते हुए सजा का एलान किया था। ट्रायल कोर्ट ने जयललिता पर कैद के साथ सौ करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया था। हालांकि हाईकोर्ट ने अपने फैसले में ट्रायल कोर्ट के फैसले को पूरी तरह से पलटकर रख दिया था।

तमिलनाडुः वीके शशिकला पार्टी विधायकों को संबोधित करते हुए फिर हुईं भावुक

इस फैसले के बाद अब शशिकला को जेल जाना होगा। उन्होंने इस पूरे प्रकरण में महज 23 दिन ही जेल में काटे थे। इस मामले में दोनों ही जजाें की राय समान थी। अपने फैसले में कोर्ट ने कहा कि वह हाईकोर्ट के फैसले को निरस्त करते हुए ट्रायल कोर्ट के फैसले को ही मान्य करते हैं।

तस्वीरें : सुप्रीम कोर्ट ने शशिकला का मुख्यमंत्री बनने का सपना तोड़ा, दोषी करार

...तो इसलिए जयललिता के निधन की रात सीएम नहीं बनीं शशिकला

शशिकला ने किया 119 विधायकों के समर्थन का दावा

Posted By: Kamal Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप