नई दिल्ली, प्रेट्र। सुभाष चंद्र बोस के निधन से संबंधित सवाल दशकों से विवाद का विषय बना हुआ है। नेताजी के रिश्तेदार आशीष रे को उम्मीद है कि उनकी नई किताब 'लेड टू रेस्ट' से इस बहस पर विराम लग जाएगा। इस किताब में 11 विभिन्न जांचों के परिणामों को शामिल किया गया है। पुस्तक का निष्कर्ष इस बात की ओर इशारा करता है कि नेताजी का निधन 18 अगस्त, 1945 को ताइपे में विमान दुर्घटना में हो गया था।

रे का कहना है कि यह किताब स्वतंत्रता सेनानी के निधन को लेकर बने रहस्य पर 'श्वेत पत्र' है। नेताजी की बेटी अनीता बोस फाफ ने पुस्तक की प्रस्तावना लिखी है। इसमें सभी 11 आधिकारिक और अनाधिकारिक जांचों को एकसाथ लेकर विवाद को खत्म करने का दावा किया गया है। इन सभी जांचों का निष्कर्ष एक ही निकलकर आया था।

लंदन में रहने वाले लेखक ने इस सप्ताह बीकानेर हाउस में किताब के विमोचन के लिए आयोजित कार्यक्त्रम के दौरान कहा, 'मेरी किताब में चार भारतीय, तीन जापानी, तीन ब्रिटिश और एक ताइवानी सहित 11 विभिन्न जांच को एकसाथ प्रस्तुत किया गया है। जिनमें यह निष्कर्ष निकाला गया है कि नेताजी का 18 अगस्त, 1945 को विमान दुर्घटना में निधन हो गया था।'

विवरण देते हुए रे ने कहा कि जापानी वायुसेना के विमान में 'कुछ' गड़बड़ी थी और ताइपे से उड़ान भरने के तुरंत बाद यह दुर्घटनाग्रस्त होकर गिर गया। उनके मुताबिक, बोस का उसी शाम नैनमन सैन्य अस्पताल में निधन हो गया। 'लेड टू रेस्ट' का प्रकाशन रोली बुक्स ने किया है। पुस्तक की कीमत 595 रुपये है।

By Manish Negi