मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, प्रेट्र। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को जम्मू-कश्मीर के हजारों छात्रों को बड़ी राहत प्रदान की। प्रधानमंत्री विशेष छात्रवृत्ति योजना के तहत चयनित वहां के छात्र अब इंजीनियरिंग व अन्य कालेजों में 15 सितंबर तक दाखिला ले सकेंगे।

जम्मू-कश्मीर सरकार ने कहा कि अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने 30 जुलाई को काउंसिलिंग पूरी कर ली थी। प्रधानमंत्री विशेष छात्रवृत्ति योजना के तहत चयनित छात्रों को संस्थानों में 15 अगस्त तक दाखिला लेना था, लेकिन राज्य के पुनर्गठन और इसे लेकर उठाए गए एहतियाती कदमों के कारण कई छात्र प्रवेश नहीं ले पाए।

जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस एस. रेड्डी की पीठ ने तर्क से सहमत हुए कहा कि राज्य की परिस्थितियों को देखते हुए दाखिले की अंतिम तिथि बढ़ाकर 15 सितंबर कर देनी चाहिए। इस पर AICTE को भी कोई आपत्ति नहीं है। गौरतलब है कि शीर्ष अदालत नौ अगस्त को योजना के तहत दाखिले की अंतिम तिथि 15 अगस्त से बढ़ाने संबंधी याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हुई थी।

इसे भी पढ़ें: केंद्र शासित जम्मू कश्मीर में सुरक्षित रहेंगे स्थानीय छात्रों के हित

दो हजार से ज्यादा छात्र नहीं ले पाए थे दाखिला
जम्मू-कश्मीर के वकील शोएब आलम ने कहा था कि वे तिथि बढ़ाने की मांग इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि प्रधानमंत्री विशेष छात्रवृत्ति योजना के तहत चयनित 2,401 छात्र राज्य के हालात के कारण कालेजों में दाखिला नहीं ले पाए हैं। इस योजना का लाभ उठाते हुए 3,672 छात्र संस्थानों में दाखिला ले चुके हैं।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री विशेष छात्रवृत्ति योजना की शुरुआत वर्ष 2010-11 में जम्मू-कश्मीर के छात्रों के लिए की गई थी। इसके तहत प्रदेश के योग्य छात्रों को देश के किसी भी हिस्से में स्थित इंजीनिय¨रग और अन्य कालेजों में शिक्षा के लिए ट्यूशन फीस, हॉस्टल फीस, किताबों की प्रतिपूर्ति व अन्य खर्च आदि प्रदान किए जाते हैं।

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप