मुंबई, प्रेट्र। सिम कार्ड बदलकर शातिर बदमाशों ने यहां के एक कपड़ा कारोबारी के खाते से 1.86 करोड़ रुपये उड़ा लिए। व्यापारी के खाते से यह पैसा देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग खातों में ऑनलाइन ट्रांसफर किया गया है। घटना उस समय प्रकाश में आई जब मुंबई के माहिम इलाके के कारोबारी ने साइबर पुलिस स्टेशन में इस बारे में शिकायत दर्ज कराई।

शिकायत के अनुसार, गुरुवार की रात कुछ मिस्ड कॉल आने के बाद कारोबारी के मोबाइल फोन ने काम करना बंद कर दिया। अगली सुबह उन्होंने पाया कि को-ऑपरेटिव बैंक में स्थित खाते का ब्योरा उनके मोबाइल फोन से रात भर में ही लगभग खत्म हो गया था। उनका मोबाइल फोन को-ऑपरेटिव बैंक से जुड़ा हुआ था।

कम से कम 1.86 करोड़ रुपये फर्जी तरीके से दिल्ली, पश्चिम बंगाल और झारखंड स्थित अलग-अलग 24 खातों में आटीजीएस और एनईएफटी के जरिये ऑनलाइन ट्रांसफर किए गए थे। कारोबारी दौड़ते हुए अपने बैंक पहुंचे।

उनकी शिकायत पर बैंक प्रबंधक किसी प्रकार 20 लाख रुपये लौटाने में सफल रहे। कुछ खातों को भी उन्होंने सीज करवाया है। कारोबारी की शिकायत पर विभिन्न गंभीर धाराओं में कई लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

जांच में पाया गया कि धोखेबाजों ने कारोबारी के मोबाइल सिम को क्लोन कर लिया था। पुलिस को शक है कि आरोपितों ने कारोबारी के सिम का यूनिक नंबर हासिल कर लिया और उसके आधार पर सिम बदल लिया। इसके बाद उन्होंने बैंक से कई बार में पैसे ट्रांसफर कर लिए। आशंका है कि धोखेबाजों ने किसी वायरस के जरिये कारोबारी के बारे में जानकारी हासिल कर ली होगी।

 

Posted By: Arun Kumar Singh