नई दिल्ली, प्रेट्र। प्रतिबंधित अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन आइएस के 155 सदस्यों और उसके समर्थकों को अब तक देश में गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा विभिन्न राज्यों के कुछ व्यक्तियों द्वारा इस आतंकी संगठन में शामिल होने की जानकारी केंद्रीय और राज्य की सुरक्षा एजेंसियों को मिली है। यह जानकारी गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में दी।

पिछले तीन सालों में जम्मू-कश्मीर में मारे गए 700 से अधिक आतंकी

पिछले तीन सालों के दौरान जम्मू-कश्मीर में 733 आतंकी मारे गए। 2018 में 257, 2017 में 213 और 2016 में 150 आतंकी मारे गए। इस साल जनवरी से लेकर 16 जून तक की बात करें तो 113 आतंकी मारे गए हैं। तीन सालों के दौरान 112 आम नागरिकों को भी विभिन्न आतंकी घटनाओं में जान गंवानी पड़ी है। यह जानकारी गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने संसद में दी।

देश में नक्सल वारदातों में आई कमी

2009-13 के मुकाबले पिछले पांच सालों के दौरान देश में होने वाली नक्सल वारदातों में जहां 43.4 फीसद की कमी आई, वहीं इसके चलते होने वाली मौतों में 60.4 फीसद की कमी आई है। 2009-2013 के बीच नक्सली ¨हसा के 8,782 मामले दर्ज किए गए जबकि 2014-18 के बीच यह घटकर 4,969 रह गए।

2009-13 के बीच नक्सल हिंसा के चलते सुरक्षा बलों सहित 3,326 लोगों को जान गंवानी पड़ी जबकि 2014-18 के बीच यह संख्या घटकर 1,321 हो गई। गृह राज्य मंत्री जी किशन रेडडी ने लोकसभा मेंलिखित जवाब में यह जानकारी दी।

अर्धसैनिक बलों में 84,000 पद रिक्त

अर्धसैनिक बलों में स्वीकृत 9,99,795 पदों के मुकाबले 84,000 से अधिक पद रिक्त पड़े हैं, जिन्हें भरने का तेजी से प्रयास किया जा रहा है। सेवानिवृत्ति, स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति और मृत्यु के चलते यह पद रिक्त हुए हैं। लोकसभा में एक लिखित प्रश्न के जवाब में सरकार ने बताया कि प्रत्येक साल 10 फीसद पद रिक्त होते हैं और इन्हें भरने के लिए निर्धारित प्रक्रिया का पालन किया जाता है।

चक्रवात फणि ने ली 64 लोगों की जान

चक्रवात फणि की चपेट में आकर 64 लोगों की मौत हुई और 1,48,663 हेक्टेअर फसल बर्बाद हुई जबकि 5.56 लाख घर और झोपडि़यों को नुकसान पहुंचा। यह जानकारी मंगलवार को गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में दी। चक्रवात फणि से ओडिशा, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल प्रभावित हुए थे, लेकिन आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप