नई दिल्ली। भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के एक दिन बाद यूपी कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष रीता बहुगुणा जोशी ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल से अपने उस बयान के लिए माफी मांगने को कहा है जिसमें उन्होंने कहा था कि रीता बहुगुणा ने उनके पैसे नहीं लौटाए थे।

एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए जोशी ने शुक्रवार को कहा, "सिब्बल जैसे वरिष्ठ नेता को यह बयान शोभा नहीं देता है और यह बयान कांग्रेस नेताओं के वास्तविक चरित्र को दर्शाता है। यह दिखाता है कि वो किस हद तक नीचे गिर सकते हैं।"

पढ़ें- कांग्रेस को संघर्ष के वक्त छोड़कर रीता बहुगुणा ने दिखाई मौका परस्ती: हरीश रावत

रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि एक कांग्रेस विधायक होने के नाते में लखनऊ कैंट विधानसभा क्षेत्र के लिए उत्तर प्रदेश के राज्य सभा सांसद कपिल सिब्बल से सांसद फंड की मांग की थी, जो किसी का निजी धन नहीं था। रीता बहुगुणा ने बताया कि उन्होंने सिब्बल और लखनऊ के कलेक्टर को गुरूवार को बता दिया कि फंड को निकाल लें और खाते को फ्रीज कर दें क्योंकि वह अब कांग्रेस पार्टी में नहीं है और साथ ही कांग्रेस के विधायक पद से भी इस्तीफा दे रही है।

जोशी ने बताया, "मैंने भाजपा ज्वॉइन करने के तुरंत बाद शाम को 5.30 बजे यह पत्र लिखा।" जोशी ने कहा कि कपिल सिब्बल का यह बयान कि वो उनकी वयक्तिगत धनराशि लेकर भाग गयी, अत्यधिक आपत्तिजनक और भ्रामक है।

पढ़ें- बेटे के सियासी भविष्य के लिए रीता बहुगुणा ने थामा भाजपा का दामन

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस