मुंबई, [ओमप्रकाश तिवारी]। इंद्राणी मुखर्जी और संजीव खन्ना ने शीना बोरा को मारने की साजिश स्काइप पर बात करते हुए रची थी। ऐसा इसलिए ताकि पुलिस को जांच में कभी कोई कॉल डिटेल न मिल सके। इस बात का जिक्र मुंबई पुलिस ने इंद्राणी और संजीव की हिरासत बढ़ाने के लिए दी गई अपनी दलीलों के दौरान किया है।

वर्ष 2002 में ही तलाक ले चुके इंद्राणी (43 वर्ष) और संजीव खन्ना (50 वर्ष) स्काइप के जरिए लगातार संपर्क में थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार शीना की हत्या से पहले दोनों ने स्काइप पर ही इसकी साजिश रची थी। पुलिस ने जो फोन काल की डिटेल निकालीं हैं उसके मुताबिक भी दोनों हत्या से पहले और बाद में हर दिन कम से कम दस से बारह बार फोन पर बातचीत करते थे।

जांच कर रहे पुलिस अधिकारी के अनुसार स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी ने संभवत: यह सावधानी हत्या के बाद पुलिस से बचने के लिए बरती होगी। क्योंकि मोबाइल से की गई बातचीत का विवरण पुलिस आसानी से हासिल कर सकती थी और उसके आधार पर इंद्राणी और संजीव के खिलाफ सबूत और पुख्ता हो सकते थे। बता दें कि स्काइप इंटरनेट के जरिए की जानेवाली बातचीत है जिसमें दो शहरों या दो देशों में बैठकर लोग आमने-सामने सजीव बात कर सकते हैं। इस प्रकार की गई बातचीत का कोई कॉल रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं होता।

शीना की हत्या में औरों के भी शामिल होने का शक

बता दें कि इंद्राणी और संजीव दोनों ने शीना की हत्या करने का जुर्म पुलिस के सामने कबूल कर लिया है। लेकिन पुलिस अभी हत्या का असली मकसद पता नहीं कर सकी है। इसके लिए वह दोनों से और पूछताछ करना चाहती है। बताया जाता है कि इंद्राणी अपने पहले पति सिद्धार्थ दास से हुई बेटी शीना की हत्या की साजिश लंबे समय से कर रही थी। लेकिन अपने वर्तमान पति पीटर मुखर्जी के मुंबई में रहते वह यह काम नहीं करना चाहती थी। इसलिए जैसे ही पीटर कुछ दिनों के लिए विदेश गया, इंद्राणी ने स्काइप पर संजीव से बात करके उसे मुंबई बुला लिया और दोनों ने मिलकर शीना की हत्या कर दी।

राहुल को भेजे गए थे ये संदेश

मिड डे, मुंबई। शीना बोरा के गायब होने के बाद उसके ब्वायफ्रेंड और पीटर मुखर्जी के बेटे राहुल मुखर्जी ने शीना से फोन पर बात करने की बहुत कोशिश की। लेकिन शीना की ओर से सिर्फ और सिर्फ मैसेज में जवाब आया। पुलिस का मानना है कि शीना की हत्या के बाद या तो शीना बनकर इंद्राणी ने यह मैसेज भेजे या फिर उसने किसी और से भिजवाए। शीना के फोन से अलग-अलग दिन राहुल को किए छह मैसेज में से पांच मैसेज इस प्रकार हैं :-

1. मैं यूएस जा चुकी हूं... प्लीज मेरा पीछा मत करो।

2. अब मैं तुमसे कोई रिश्ता नहीं रखना चाहती.... प्लीज मुझे फोन और मैसेज मत करना।... मैं यहां बहुत खुश हूं।

3. मैंने तुमसे कहा ना, अब मेरा तुमसे कोई लेना-देना नहीं है... तुम्हें बात समझ में आ रही है।

4. मैं अमेरिका में हूं...।

5. मुझे कोई नया मिल गया है... मैं उसके साथ खुश हूं और अब मेरी तुममें कोई रुचि नहीं है।... मैं उसके साथ यूएस में ही सैटेल हो रही हूं।

22 ई-मेल में मिले इंद्राणी व संजीव के खिलाफ सबूत

मिड डे, मुंबई। शीना हत्याकांड के तकनीकी सबूतों को इंद्राणी मुखर्जी, संजीव खन्ना और श्याम राय के खिलाफ आधार बनाने के लिए पुलिस ने इंद्राणी के 22 ई-मेल खंगाल डाले हैं। इन ई-मेलों के जरिए इंद्राणी ने अपने पूर्व कर्मचारी की मदद से अपनी बेटी शीना बोरा के फर्जी दस्तखत किए और उन ई-मेल को शीना के दफ्तर मुंबई मेट्रो और खार स्थित उसके मकान मालिकों को भेजा था। पुलिस का कहना है कि इंद्राणी ने शीना का फर्जी इस्तीफा और खार स्थित उसके किराए के घर का फर्जी एग्रीमेंट भेजा था। इसके लिए उसने अपने पूर्व कर्मचारी की मदद ली थी। इस मामले में पुलिस ने उस पूर्व कर्मचारी का बयान भी दर्ज कर लिया है।

कोर्ट रूम में बेहोश हुई इंद्राणी

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Niranjan