PreviousNext

आर-पार के मूड में शरद यादव, जदयू पर ठोकेंगे अपना दावा!

Publish Date:Sun, 13 Aug 2017 06:04 PM (IST) | Updated Date:Sun, 13 Aug 2017 10:42 PM (IST)
आर-पार के मूड में शरद यादव, जदयू पर ठोकेंगे अपना दावा!आर-पार के मूड में शरद यादव, जदयू पर ठोकेंगे अपना दावा!
शरद यादव के करीबी अरुण श्रीवास्तव ने दावा किया है कि शरद को 14 राज्यों के अध्यक्षों का समर्थन हासिल है।

नई दिल्ली, पीटीआई। बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद राज्य के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार से नाराज चल रहे शरद यादव अब आर-पार की लड़ाई के मूड में है। राज्यसभा सांसद शरद यादव अब जदयू पर अपना दावा ठोकने की तैयारी में हैं। शरद यादव के गुट का दावा है कि जदयू की 14 राज्यों की इकाई शरद को समर्थन देने के लिए तैयार हैं। जबकि नीतीश कुमार का समर्थन सिर्फ बिहार तक ही सीमित है।

शरद यादव के करीबी अरुण श्रीवास्तव ने दावा किया है कि शरद को 14 राज्यों के अध्यक्षों का समर्थन हासिल है। इतना ही नहीं 14 राज्य के अध्यक्षों ने पत्र लिखकर शरद यादव को अपना समर्थन भी दिया है। इसके अलावा, पार्टी के दो राज्यसभा सांसद भी उनके साथ हैं। जिसमें अली अनवर भी शामिल हैं। शरद यादव जल्द ही चुनाव आयोग में जदयू पर दावा ठोक सकते हैं। बता दें, अरुण श्रीवास्तव गुजरात राज्य के पार्टी महासचिव थे और राज्यसभा चुनाव के दौरान जदयू विधायक के कांग्रेस प्रत्याशी को वोट देने के बाद उन्हें पद से हटा दिया गया था। साथ ही राज्य सभा में पार्टी संसदीय दल के नेता के पद से भी शरद यादव को हटा दिया गया है।

अरुण श्रीवास्तव ने जदयू के बिहार तक सीमित होने के बयान को खारिज करते हुए कहा कि पार्टी की राष्ट्रीय स्तर पर हमेशा से पहचान रही है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने जब समता पार्टी का जदयू में विलय किया था तो उस समय शरद यादव ही पार्टी के अध्यक्ष थे। 

उन्होंने कहा हम पार्टी नहीं छोड़ेंगे। नीतीश कुमार ने खुद कहा था कि जदयू का बिहार के बाहर कोई वजूद नहीं है। इसीलिए नीतीश को बिहार में नई पार्टी का गठन करना चाहिए। उनको जदयू पर कब्जा करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। 

यह भी पढ़ें: शरद यादव से जदयू ने कहा, जरा भी शर्म बची है तो राज्‍यसभा से दे दें इस्‍तीफा

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Sharad Yadav may claim on jdu(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

कुछ ही महीनों बची हैं आतंकियों की जिंदगी : अरुण जेटलीकश्मीर में मोस्ट वांटेड आतंकी यत्तु सेना के एनकाउंटर में ढेर