नई दिल्ली, एजेंसी। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने कोंकण और गोवा गुजरात के कुछ इलाकों में भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है और रेड वार्निंग जारी कर दिया है। इसके अलावा सौराष्ट्र और कच्छ के साथ-साथ मराठवाड़ा में भी मंगलवार को आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसके अलावा बुधवार के लिए अब तक केवल गुजरात में आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। बता दें कि अब चक्रवाती तूफान कमजोर पड़ने लगा है और भारत से इसका असर खत्म होने को है।

आंध्र प्रदेश में चक्रवात ने सामान्य जनजीवन को किया ठप 

सोमवार को आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)  में  चक्रवाती तूफान गुलाब (Gulab) के कारण घंटों तक भारी बारिश हुई और कृष्णा (Krishna) और श्रीकाकुलम (Srikakulam) जिलों में इस कदर पानी जमा हो गया कि सामान्य जनजीवन ठप हो गया। हैदराबाद के मानिकोंडा इलाके में बीते शनिवार की रात भारी बारिश के बीच सड़क किनारे गड्ढे में गिरे एक तकनीकी विशेषज्ञ का सोमवार को भी कोई पता नहीं चला। दूसरे दिन भी, लगभग 100 बचावकर्मियों ने तकनीकी विशेषज्ञ गोपीशेट्टी रजनीकांत (42) की तलाश जारी रखी।

मध्य प्रदेश में भी है चक्रवात का असर

गुलाब का असर मध्यप्रदेश में भी जारी है और आगामी 30 सितंबर तक ऐसा ही मौसम रहेगा। मौसम विभाग ने हालात को देखते हुए येलो अलर्ट जारी किया है साथ ही राज्य के विभिन्न इलाकों- इंदौर, धार, खंडवा, खरगोन, आलीराजपुर, बुरहानपुर एवं बैतूल जिले में 24 घंटे के दौरान भारी बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने पूर्वानुमान में जबलपुर, उज्जैन, होशंगाबाद व शहडोल संभाग के जिलों में गरज चमक के साथ बिजली चमकने और गिरने की संभावना बताई है। विभाग के अनुसार, उत्तरी पश्चिमी मप्र में ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। इसके अलावा मानसून ट्रफ लाइन बीकानेर, कोटा, सागर, पेंड्रा रोड सहित अन्य जगहों से होते हुए बंगाल की खाड़ी तक एक ट्रफ बन रहा है। ऐसे में अच्छी नमी प्रदेश में आ रही है। इससे अन्य जिलों में अच्छी बारिश हो रही है। मप्र के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है।

Edited By: Monika Minal