पुंछ [गगन कोहली]। आतंकियों का दल रविवार सुबह पुंछ शहर में बड़ी वारदात के इरादे से घुस आया। आतंकी दो गुट में बंट गए। एक गुट ने एसएसपी कार्यालय से चंद मीटर की दूरी पर निर्माणाधीन मिनी सचिवालय की इमारत से गोलीबारी शुरू कर दी।

जबकि दूसरे गुट ने नजीर मीर के मकान में दंपती को बंधक बना लिया। इसके बाद वे बाहर गोलीबारी भी करने लगे। सुरक्षाबलों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। करीब 12 घंटे बाद सेना के कमांडो ने दंपती को आतंकियों के चंगुल से मुक्त करवाया।

पढ़ेंः घाटी में हालात बेकाबू, हिंसा में अब तक 200 से अधिक जख्मी

मुठभेड़ में तीन आतंकी मारे गए। पुलिस का हवलदार शहीद हो गया। जबकि सेना व पुलिस के चार जवान जिनमें पुलिस का सब इंस्पेक्टर शामिल है और नजीर का नौकर भी घायल हो गए। सभी को जिला अस्पताल पुंछ व सैन्य अस्पताल पुंछ ले जाया गया। अभी भी गोलीबारी लगातार जारी है। आतंकियों की सही स्थिति का पता लगाने के लिए सेना ने ड्रोन का भी सहारा लिया है।

सुबह साढ़े सात बजे अल्ला पीर मुहल्ले में स्थित नजीर मीर के घर आतंकी दाखिल हुए। आते ही उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें उनका नौकर तारिक हुसैन घायल हो गया। नजीर ने तुरंत पुलिस को सूचित कर दिया। वहीं, गोली की आवाज सुनकर पुरानी पुंछ में रहने वाला पुलिस कांस्टेबल राजेंद्र कुमार एसएसपी कार्यालय से चंद की कदमों की दूरी पर पहुंचा था कि मिनी सचिवालय की इमारत से आतंकी गोलीबारी करने लगे।

घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई। पुलिस के साथ सेना के जवानों ने मोर्चा संभाल लिया। कुछ आतंकी मिनी सचिवालय की इमारत से और दो आतंकी नजीर मीर के घर से जवानों पर गोलियां बरसाते रहे। उसी समय सेना ने ऊधमपुर से सेना की 9 पैरा कमांडो यूनिट के स्पेशल कमांडो को बुलाया। वायु सेना के विशेष चॉपर से कमांडो पुंछ पहुंचे। कमांडो ने पहले नजीर मीर के घर में घुसकर एक आतंकी व मिनी सचिवालय में दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया।

कुपवाड़ा में भी आतंकियों ने घुसपैठ की कोशिश की

दूसरी तरफ कुपवाड़ा में सेना ने घुसपैठ की कोशिश नाकाम करते हुए चार पाकिस्तानी आतंकियों को नौगाम में सेक्टर में मार गिराया। सभी आतंकी स्वचालित हथियारों से लैस थे। नौगाम सेक्टर में सुबह आत्मा 1 और आत्मा-2 चौकी के बीच आने वाले इलाके में घुसपैठियों का एक दल भारतीय इलाके में दाखिल हो गया। जवानों के ललकारने पर घुसपैठियों ने फायरिंग शुरू कर दी।

करीब दो घंटे तक गोलीबारी हुई। फाय¨रग बंद होने के बाद मुठभेड़स्थल की तलाशी के दौरान तीन आतंकियों के शव व चार एसाल्ट राइफलें, चार पाऊच व अन्य युद्घक सामग्री मिली। इसके बाद चौथे घुसपैठिए का शव एलओसी पर भारतीय सीमा के अंतिम छोर पर पड़ा हुआ था।

पढ़ेंः कश्मीर मुद्दे पर राजनाथ सिंह सख्त, कहा- एक हफ्ते में हालात दुरुस्त करें

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस