नई दिल्ली, एएनआइ। 2017 के टेरर फंडिंग केस में जम्मू-कश्मीर के अलगाववादी नेता यासिन मलिक को दिल्ली की अदालत में पेश किया गया। एनआइए (NIA) ने यासिन मलिक, शब्बीर शाह, आसिया अंद्राबी, मसरत आलम समेत अन्य अलगाववादियों के खिलाफ चार्जशीट फाइल की है।

एनआइए अधिकारियों के अनुसार जांच में कई ताजा सबूत मिले हैं, जिसमें सोशल मीडिया से जुड़े सबूत, कॉल रिकॉर्ड, मौखिक और कई अन्य दस्तावेज पाए गए हैं। जांच के दौरान पाए गए नए सबूतों से सीमा पार (पाकिस्तान) के आतंकी हाफिज सईद और सैयद सलाउद्दीन के संबंधों का पता चलता है।

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है हाफिज सईद

बता दें कि इस मामले में जमात-उद-दावा (JuD) प्रमुख हाफिज सईद, 2008 के मुंबई आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड, अलगाववादी नेताओं के अलावा, पूर्व विधायक इंजीनियर शेख अब्दुल रशीद को भी चार्जशीट किया गया है।

अपहरण और चार एयरफोर्स के अधिकारियों की हत्या का मामला भी है दर्ज

वहीं, यासिन मलिक पर 1989 में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बेटी डॉ. रूबिया सईद के अपहरण का मामला दर्ज है। इसके साथ ही एयरफोर्स के चार अधिकारियों की हत्या का भी मामला दर्ज है। टाडा कोर्ट ने जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के प्रमुख  यासिन मलिक पर वारंट जारी किया था।

टाडा कोर्ट ने अलगाववादी नेता यासीन मलिक के खिलाफ सुनवाई 23 अक्टूबर तक स्थगित कर दी है। कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मलिक को कोर्ट के सामने पेश करने की अनुमति दी थी। वहीं, अब नए NIA को मिले नए सबूतों के अनुसार, यासिन मलिक के तार पाकिस्तान के हाफिज सईद और सैयद सलाउद्दीन से जुड़े हैं। 

गौरतलब है कि पूर्व मुख्यमंत्री मोहम्मद सईद की बेटी डॉ. रूबिया सईद अपहरण मामले में CBI के मुताबिक श्रीनगर के सदर पुलिस स्टेशन में आठ दिसंबर 1989 को रिपोर्ट दर्ज हुई थी। रिपोर्ट के अनुसार रूबिया मिनी बस में श्रीनगर से नौगाम स्थित अपने घर जा रही थी, तभी कुछ अज्ञात बंदूकधारियों ने रूबिया का अपहरण कर लिया था। 

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप