नई दिल्ली, एजेंसी। पाकिस्तान पोषित आतंकी समूहों द्वारा हथियारों और नशीली दवाओं की तस्करी के लिए छोटे मानवरहित विमानों (ड्रोन) के इस्तेमाल की खबरों के बीच सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सूत्रों के मुताबिक, सुरक्षाबलों को अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 1,000 फीट या इससे नीचे उड़ रहे ड्रोन को मार गिराने की इजाजत दे दी गई है। सूत्रों ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तैनात सुरक्षाबलों को भारत में घुसपैठ की कोशिश करने वाले ड्रोन विमानों को मार गिराने की अनुमति दी गई है।

पाकिस्तान से ड्रोन द्वारा पंजाब में भारी संख्या में हथियार गिराए जाने की घटना पर पंजाब सरकार सतर्क हो गई। पिछले दिनों सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इन हालातों से जल्दी निपटने का आग्रह किया। 

अतिम फैसला सुरक्षा एजेंसियां करेंगी

हालांकि इस संबंध में अंतिम निर्णय संबंधित एजेंसियां करेंगी, क्योंकि कुछ मामलों में कम ऊंचाई पर उड़ते हुए विमान भी हो सकते हैं। हाल के दिनों में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) समेत अन्य सुरक्षाबलों ने पंजाब में छोटे ड्रोन विमानों को अंतरराष्ट्रीय सीमा में घुसते देखा है। यहां चीन में बने ड्रोन के जरिए राइफल और नशीली दवाएं पहुंचाने की कोशिश भी की जा चुकी है।

रात में दिखीं थीं तेज चमचमाती लाल लाइटें 

पंजाब के फिरोजपुर जिले के तीन गांवों में पिछले 11 अक्‍टूबर को ड्रोन देखे जाने से हड़कंप मचा है। 9 अक्‍टूबर को देर रात सीमा के पास पाकिस्‍तान की ओर लोगों को तेज चमचमाती लाल लाइटें दिखीं। लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी।  

पंजाब में ड्रोन से भेजे गए थे हथियार  

पंजाब में पाकिस्‍तानी ड्रोन की गतिविधियों का खुलासा होने के बाद अब हथियार पकड़े जाने से हड़कंप मच गया है। बीएसएफ और एसटीएफ ने ज्वाइंट ऑपरेशन में 1 अक्‍टूबर को तीन लोगों को हथियार और कारतूस के साथ गिरफ्तार किया है। उनके कब्‍जे से भारी मात्रा में हथियार, एके 47 राइफल और कारतूस मिले हैं। ये हथियार पाकिस्‍तान से भेजे गए थे 

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप