सुकमा, जेएनएन। सुरक्षा बलों ने शुक्रवार को तलाशी अभियान के दौरान छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा के कुकानार थाना क्षेत्र से दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के बाद उन्हें न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कुन्ना इलाके से लगातार सूचना मिल रही थी कि वहां नक्सली बैठक करने वाले हैं। इस पर स्थानीय थाना पुलिस, जिला बल और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम भेजी गई। कुन्ना व मुठेली के बीच जवानों को आता देख दो संदिग्ध भागने लगे। जवानों ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया। पूछताछ में उन्होंने अपनी पहचान जनमिलिशिया सदस्य दिरदो भीमा और दिरदो देवा के रूप में बताई। पुलिस के अनुसार दिरदो भीमा जोंगेरास गांव के समीप आइईडी ब्लास्ट करने की वारदात में शामिल था, जबकि दिरदो देवा जंगमपाल की पहाड़ी में पुलिस जवानों पर फायरिंग करने में।

वहीं, इसके पहले छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में गुरुवार दोपहर डीआरजी जिला रिजर्व बल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई। नेलवाड़ा के जंगल (इंद्रावती नदी के दक्षिणी ओर) में हुई इस मुठभेड़ के बाद सर्चिंग के दौरान घटनास्थल से दो माओवादियों के शव बरामद किए गए।

मारे गए नक्सलियों में से एक की पहचान प्लाटून नं 16 डिप्टी कमांडर रिशु इस्तम के रूप में हुई है। दूसरे की पहचान पिडिआकोट जनमिलिशिया कमांडर माटा के रूप में हुई है। मौके से दो देशी हथियार, 5 किलो आईईडी, 2 पिट्ठू बैग और माओवादियों के अन्य दैनिक उपयोग के सामान बरामद किए गए हैं। मारा गया जनिमिलिशिया कमांडर आठ लाख रुपये का इनामी बताया गया है।

 

 

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस