नई दिल्ली, एजेंसियां। देश में कोरोना वायरस के कम हो रहे मामलों के बीच राज्य सरकारें स्कूलों को फिर से खोलने पर जोर दे रही हैं। हरियाणा और तेलंगाना में आज से जूनियर कक्षाओं को फिर से खोला जा रहा है। इस दौरान स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का सख्ती से पालन किया जाएगा इसके साथ ही कोरोना से संबंधित सभी दिशा-निर्देशों जैसे- शारीरिक दूरी के नियमों का पालन, मास्क पहनना और बार-बार हाथों को धोना जरूरी होगा।

तेलंगाना सरकार ने बुधवार से छठी से 8वीं तक के स्कूलों को फिर से खोलने की अनुमति देने का फैसला किया है। राज्य के मुख्य सचिव सोमेश कुमार ने सभी जिला कलेक्टरों, जिला शिक्षा अधिकारियों के साथ चर्चा के बाद यह निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि कक्षाएं 24 फरवरी से 1 मार्च के बीच शुरू हो जानी चाहिए। इस दौरान स्कूल प्रशासन को कोरोना गाइडलाइंस का सख्ती से पालन करना होगा। इससे पहले लगभग 11 महीने के अंतराल के बाद कक्षा 9वीं से ऊपर की कक्षाओं को 1 फरवरी से फिर से खोला गया था। लॉकडाउन की वजह से कक्षा 1 से 11 के लिए परीक्षा आयोजित नहीं की जा सकी, जिसकी वजह से सभी छात्रों को अगली कक्षा में पदोन्नत कर दिया गया।

हरियाणा में सुबह 10 बजे से स्कूल

हरियाणा में लगभग एक साल के बाद कक्षा तीसरी से लेकर पांचवी तक के छात्रों के लिए आज से फिर खुल गए हैं। यह निर्णय राज्य भर के सभी सरकारी और निजी स्कूलों पर लागू होगा। कक्षाएं सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 1:30 बजे तक आयोजित की जाएंगी। पिछले कुछ महीनों में कक्षा 6 से 12 तक के छात्रों के लिए पहले ही स्कूल खोले जा चुके हैं। स्कूल आने से पहले, छात्रों को अपने माता-पिता से एक सहमति पत्र लेना होगा। वहीं, स्कूलों को सभी कोरोना संबंधित दिशानिर्देशों और मानक संचालन प्रक्रियाओं का पालन करना होगा। प्रत्येक कक्षा को तीन वर्गो में विभाजित किया जाएगा। अगर किसी वर्ग में छात्र कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है, तो उस वर्ग को 10 दिनों के लिए बंद कर दिया जाएगा। अगर एक से अधिक छात्र पॉजिटिव पाए जाताे हैं, तो पूरा स्कूल 10 दिनों के लिए बंद रहेगा।

मिजोरम में नौ और 11वीं के छात्रों के लिए खुले स्कूल

मिजोरम में कक्षा नौ और 11वीं के विद्यार्थियों के लिए 22 फरवरी से फिर से स्कूल खोल दिए गए हैं। इससे पहले कक्षा 10 और 12वीं के विद्यार्थियों के लिए 22 जनवरी से स्कूलों को खोला गया था। कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए पिछले साल मार्च से मिजोरम में स्कूल बंद थे। राज्य सरकार ने बुधवार को एक आदेश में कहा कि कक्षा नौ और 11वीं के विद्यार्थियों के लिए 22 फरवरी से स्कूल खुलेंगे और स्कूलों में प्रवेश करने से पहले सभी विद्यार्थियों के तापमान की जांच की जाएगी। इसमें कहा गया है कि कक्षा नौ और 11 के विद्यार्थियों को 22 फरवरी से छात्रावासों में रहने की अनुमति दी जायेगी।

मध्य प्रदेश में खुले स्कूल, आश्रम और छात्रावास

मध्य प्रदेश के जनजातीय कार्य विभाग एवं अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के हाई एवं हायर सेकंडरी स्कूल, छात्रावास और आश्रम 22 फरवरी से खोल दिए हैं। कोरोना संक्रमण के चलते ये संस्थाएं मार्च 2020 से बंद थीं। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति सामान्य हो रही है। इसे देखते हुए तीन फरवरी को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में दोनों विभागों के हाई-हायर सेकंडरी स्कूल, महाविद्यालयीन स्तर की आवासीय संस्थाएं नियमित रूप से खोलने का निर्णय लिया गया था।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप