नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। विधानसभा चुनावों के नतीजे भले ही रविवार को घोषित होंगे, लेकिन सटोरियों ने पहले ही चारों बड़े राज्यों में कमल खिला दिया है। सटोरियों का मानना है कि दिल्ली, राजस्थान और मध्य प्रदेश में कांग्रेस भाजपा को टक्कर देने की स्थिति में नहीं है। केवल छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य है, जहां कांग्रेस और भाजपा में कड़ी टक्कर है, लेकिन वहां भी पंजे पर कमल भारी है।

सटोरियों के अनुसार, भाजपा दिल्ली और राजस्थान में कांग्रेस से सत्ता छीनने के लिए तैयार है।

दिल्ली की 70 सीटों वाली विधानसभा में भाजपा 37 सीटों के साथ स्पष्ट बहुमत से सरकार बनाने जा रही है। वहीं, 24 सीटों के साथ कांग्रेस का चौथी बार सरकार बनाने का सपना चकनाचूर हो जाएगा। यही नहीं, 50 सीटें पाने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी विधानसभा में खाता जरूर खोल लेगी, लेकिन उसकी सीटों की संख्या छह से आगे नहीं बढ़ पाएगी।

वहीं, 200 विधानसभा सीटों वाले राजस्थान के सीधे मुकाबले में भाजपा 120 सीटों के साथ सत्ता में वापसी करने जा रही है और कांग्रेस को 57 सीटों से ही संतोष करना होगा।

सटोरियों का अनुमान है कि दिल्ली और राजस्थान में कांग्रेस को सत्ता से बाहर करने वाली भाजपा छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में सरकार बचाने में सफल हो रही है।

230 सीट वाली मध्य प्रदेश विधानसभा में भाजपा 132 सीटों के साथ सबसे आगे है। वहीं कांग्रेस की सीटों में इजाफा जरूर होगा, लेकिन वह 81 तक जाकर सिमट जाएगा। केवल छत्तीसगढ़ में कांग्रेस भाजपा को टक्कर दे रही है, जहां उसे 90 सीट वाली विधानसभा में 42 सीटें मिलेगी। जाहिर है कि वह बहुमत से तीन सीट पीछे रह जाएगी, जबकि भाजपा 47 सीटों के साथ स्पष्ट बहुमत से सरकार बनाने जा रही है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर