नई दिल्ली/लखनऊ(एजेंसी)। क्रिकेट मैच के दौरान खिलाड़ियों के परिवार भी उसी टीम की जीत की दुआ करते हैं। मगर पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद जब भारत के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल खेलने मैदान में उतरेंगे तो उनके सगे मामा महबूब हसन दुआएं करेंगे कि पाकिस्तान हार जाए।

ऐसा इसलिए क्योंकि सरफराज के मामा भारतीय हैं। महबूब उत्तर प्रदेश के शहर इटावा में रहते हैं। महबूब क्रिकेट के दीवाने हैं। फाइनल के बारे में पूछने पर बोलते हैं, 'शर्त लगा लो, भारतीय टीम ही जीतेगी। पाकिस्तान के मुकाबले भारत बहुत मजबूत टीम है।' उल्लेखनीय है कि महबूब की बहन यानि सरफराज की मां शकीला बानो शादी के बाद कराची के शकीन अहमद से हुई थीं।

वह अब भी भारत में रह रहे अपने भाई महबूब से स्काइप के सहारे चर्चा करती रहती हैं। मेहबूब इटावा एग्रीकल्चर इंजिनिय¨रग कॉलेज में सीनियर क्लर्क हैं। सरफराज अपने मामा से तीन बार ही मिले हैं। महबूब आखिरी बार अपने भांजे से चंडीगढ़ में मिले थे। 2016 के टी-20 विश्व कप कप के दौरान पाकिस्तान का सामना चंडीगढ़ से हुआ था।

अपने भांजे के बारे में पूछने पर मेहबूब कहते हैं, 'फाइनल में खेलते हुए सरफराज पर कोई दबाव नहीं होगा। इसमें दबाव जैसी कोई बात नहीं है। वह अपनी टीम के लिए खेल रहा है। मैं इस बात से खुश हूं कि वह अच्छा प्रदर्शन कर रहा है।'

यह भी पढ़ेंः चैंपियंस ट्रॉफी में भारत व पाकिस्तान का अब तक का ऐसा रहा है सफर

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप