नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। नेपाल क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और दुष्कर्म के आरोपी संदीप लामिछाने दुष्कर्म मामले में काठमांडू के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर, नेपाली राष्ट्रीय टीम के पूर्व कप्तान संको के दुष्कर्म के आरोप में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है।

उन पर 17 साल की नाबालिग लड़की से दुष्कर्म का आरोप है। इस मामले में पुलिस संदीप की तलाश कर रही थी। वह नेपाल छोड़कर भाग चुके थे।

जिसके बाद उन्होंने कहा था कि वह सरेंडर करने के लिए तैयार हैं और छह अक्तूबर (यानी आज) को देश लौट जाएंगे। संदीप लामिछाने ने अपने फेसबुक पोस्ट में कहा था, 'मैं जांच के सभी चरणों में पूरा सहयोग करूंगा और अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ूंगा।'

'मैं निर्दोष हूं और कानून पर अटूट विश्वास करता हूं'

लामिछाने ने अपनी फेसबुक पर लिखा, 'आपका समर्थन, विश्वास, यकीन और आपकी आलोचनात्मक टिप्पणियां वही हैं जिन्हें मैंने अपनी संपत्ति, प्रेरणा और ताकत के रूप में लिया है। मुझे पता है कि मैं साजिश और गलत आरोप के कठिन समय का सामना कर रहा हूं और इसका प्रभाव अकल्पनीय है। मुझे यकीन है कि हमारी कानूनी व्यवस्था में निर्दोष साबित होने वाले आरोपियों को मुआवजा देने के लिए कुछ व्यवस्था होनी चाहिए। मैं जल्द ही गलत अभियोजन और मेरे खिलाफ लगाए गए आरोपों के खिलाफ कानूनी समर्थन मांगूंगा और मुझे यकीन है कि मुझे न्याय मिलेगा और मैं अपने प्यारे देश का नाम और प्रसिद्धि बनाने के लिए जल्द ही क्रिकेट मैदान पर लौटूंगा और मैं शीघ्र सुनवाई के लिए प्रार्थना करता हूं'

लामिछाने (Sandeep Lamichhane) ने आगे लिखा, नेपाल के अधिकार में खुद को प्रस्तुत करने की मेरी ईमानदार प्रतिबद्धता के अनुसार, मैं काठमांडू के त्रिभुवन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कतर एयरवेज से सुबह 10:00 बजे उतर रहा हूं। मैंने अपनी इच्छा से सरेंडर करने के बारे में पहले ही पुलिस को लिखित रूप में सूचित कर दिया है। मैंने अपनी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस प्रक्रिया के दौरान मेरे वकील सरोज कृष्ण घिमिरे (अधिवक्ता) की उपस्थिति के लिए पुलिस से विनम्र अनुरोध किया है। मैं जांच के सभी चरणों में पूरा सहयोग करूंगा और अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ूंगा। न्याय की जीत हो।

नेपाल ने अंतर्राष्ट्रीय पुलिस से मांगी थी मदद

गौरतलब है कि आरोप लगने के बाद लामिछाने ने अपना देश छोड़ दिया था। संदीप का पता न लगने के बाद नेपाल पुलिस ने अंतर्राष्ट्रीय पुलिस यानी इंटरपोल से मदद मांगी थी। नेपाल पुलिस की इस बात को स्वीकार करते हुए इंटरपोल ने संदीप लमिछाने के खिलाफ डिफ्यूज़न नोटिस जारी किया था। ऐसा बताया गया कि संदीप कैरेबियन देशों में हैं। संदीप लमिछान के खिलाफ 8 सितंबर को नेपाल पुलिस ने अरेस्ट वॉरेंट जारी किया था।

बता दें कि, पिछले महीने संदीप पर एक नाबालिग ने दुष्कर्म का गंभीर आरोप लगाया था। लड़की की शिकायत और मेडिकल जांच के बाद पुलिस ने संदीप के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। संदीप उस समय केन्या में क्रिकेट टूर्नामेंट में हिस्सा ले रहे थे।

संदीप का नेपाल क्रिकेट में बड़ा नाम है, वह अपने देश के लिए आईपीएल खेलने वाले पहले क्रिकेटर हैं। संदीप को दिल्ली कैपिटल्स ने साल 2018 में 20 लाख की बेस प्राइस पर खरीदा था।

यह भी पढ़ें- Nepal: एडवेंचर का लुत्फ उठाने के लिए नेपाल की इन खूबसूरत जगहों को करें एक्सप्लोर

यह भी पढ़ें- India Nepal Relation: एक दूसरे के विरुद्ध अपनी जमीन का इस्तेमाल नहीं होने देंगे भारत-नेपाल

Edited By: Babli Kumari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट