नई दिल्ली। लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक हाफिज सईद 2008 में मुंबई हमले के बाद भी इस नरसंहार में शामिल आतंकियों की आर्थिक मदद करता रहा था। इस बात की जानकारी उस डोजियर में दी गई है, जिसे पाकिस्तानी सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज को देने के लिए भारत ने तैयार किया था।

सूत्रों के अनुसार, इसमें 26/11 को अंजाम देने में सईद की भूमिका का विस्तार से जिक्र किया गया है। डोजियर के मुताबिक सईद ने ही भारत के विभिन्न शहरों पर हमला करने की साजिश को मंजूरी दी थी। इस बात के पुख्ता सुबूत हैं कि मुंबई हमलों को अंजाम देने के सिलसिले में हाफिज सईद कई बार डेविड हैडली से मिला था और वह प्रगति की रिपोर्ट लेता रहता था।

इस बात के भी प्रमाण हैं कि सईद ने हमले में शामिल प्रत्येक आतंकी को 'शहादत का इनाम' देने का वादा किया था। भारत ने हमले में सईद की भूमिका का विस्तृत विवरण देने के लिए अजमल कसाब के इकबालिया बयान का भी जिक्र किया है। भारत के पास हमले को अंजाम देने में अहम भूमिका निभाने वाले लश्कर आतंकी साजिद मजीद का ई-मेल भी उपलब्ध है। यह मेल उसने डेविड हैडली को किया था। आखिरी वक्त पर पाकिस्तान द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार स्तरीय बैठक रद कर दिए जाने के कारण डोजियर उसे नहीं सौंपा जा सका था।

पाकिस्तान में ही है दाऊद पाकिस्तान की पैंतरेबाजी

अातंकवाद पर वार्ता से भागा पाक

Posted By: Rajesh Niranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस