तिरुवनंतपुरम, एएनआइ। मलयालम महीना कुंबम के उपलक्ष्य में सबरीमाला स्थित भगवान अयप्पा का मंदिर मंगलवार को फिर से खोल दिया गया। मंदिर के मुख्य पुजारी वासुदेवन नमपूथिरी ने मंदिर का पट खोला। इस दौरान तंत्री कंडारारू राजीवारू भी इन पूजा के समय मौजूद रहे।  मासिक पूजा के लिए यह मंदिर 17 फरवरी तक  खुला रहेगा। इस दौरान मंदिर के गर्भगृह में कई विशेष धार्मिक रस्में जैसे कलभाभिषेकम, सहस्रकलशम और लखशार्सचना की जाएंगी। 

मंदिर खुलने के बाद केरल पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। इससे पहले सोमवार को केरल पुलिस ने सबरीमाला व आसपास के क्षेत्रों में सुरक्षा एवं सतर्कता बढ़ा दी थी। आशंका है कि संघ समर्थित संगठन 10 से 50 वर्ष की महिलाओं के मंदिर में प्रवेश को लेकर विरोध प्रदर्शन कर सकते हैं। पुलिस ने मंदिर के आधार शिविर निलाकल में कई प्रतिबंध पहले से लगा दिए हैं। परंपरा के अनुसार, इस मंदिर में 10 से 50 वर्ष की महिलाएं प्रवेश नहीं कर सकतीं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने हर उम्र की महिलाओं को दर्शन की इजाजत दे दी है। इसका अयप्पा भक्त व हिंदूवादी संगठन कड़ा विरोध कर रहे हैं।

 

Posted By: Mangal Yadav