मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सूत्र, उदयपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि राम का काम होकर रहेगा। राम का काम करना है और सभी को मिलकर करना है क्योंकि सभी में राम हैं, सभी आत्मा राम हैं। वह यहां प्रताप गौरव केंद्र में भक्तिधाम के लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

इसी कार्यक्रम में मोरारी बापू ने महाराणा प्रताप की धरती पर उनके शौर्य को नमन किया और कहा कि वे प्रभाव दिखा चुके और अब प्रताप भी दिखाना होगा। राम का नाम बहुत हो चुका अब राम की सेवा करनी है।

केंद्र पर नवनिर्मित नौ मंदिरों के भक्तिधाम के लोकार्पण के बाद मोरारी बापू ने रामायण का एक प्रसंग सुनाते हुए बताया कि हनुमान ने विभीषण से कहा कि राम नाम जपने से प्रभु की कृपा नहीं मिलेगी, क्योंकि आपने राम का काम नहीं किया। अपने भाई रावण के समक्ष अनैतिक कार्य के प्रति विरोध प्रदर्शन नहीं किया।

उन्होंने कहा कि राम इस देश की संस्कृति हैं, संस्कार हैं, राम का काम यानी राष्ट्र का काम है। उन्होंने आह्वान किया कि राम का नाम भी लें और राम का काम करने का संकल्प भी लें।

मोरारी बापू के इशारों में अयोध्या में राम मंदिर पर किए गए आह्वान के बाद भागवत ने कहा कि वे मंतव्य भी समझ गए हैं और वक्तव्य भी। पूजा हो चुकी है, अब सेवा बाकी है। जोश का एक काम हो चुका किंतु असली काम अब शुरू होगा। यह किसी पार्टी का एजेंडा नहीं है।

भागवत ने कहा कि वास्तव में हम सभी को जाग्रत रहना है। राम का काम करना है। उन्होंने यह भी कहा कि खुद का कार्य खुद करें तो ठीक रहता है, दूसरों को सौंप देते हैं तब भी निगरानी तो रखनी ही पड़ती है। हर मन में भारत की भक्ति होनी चाहिए और सभी को भारत बनना होगा। भागवत ने प्रताप गौरव केंद्र को प्रेरणा केंद्र बताते हुए कहा कि आज इस प्रेरणा केंद्र में भक्तिधाम के रूप में ऊर्जा प्रदान करने वाली शक्तियों का अवतरण हुआ है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप