लखनऊ। सियासत के खेल में कुर्सियों की अहमियत से सभी वाकिफ हैं। अब बड़े नेताओं की आमद की गवाह बनने वाली कुर्सियों को पाने की भी होड़ लगी है। पहले भाजपा नरेंद्र मोदी की कुर्सी की बोली लगी तो कल आगरा में संकल्प रैली में जिस सोफे पर रालोद मुखिया अजित बैठे, वो हॉट केक हो गया। रैली खत्म होते ही इसकी बोलियों का सिलसिला शुरू हो गया। यह 3.21 लाख पर थमा।

संकल्प रैली में मुख्य मंच पर रालोद सुप्रीमो अजित सिंह और सांसद जयंत चौधरी के लिए बैठने को सोफा लाया गया था। रैली में सोफे पर पिता-पुत्र के साथ पूर्व मंत्री कोकब हमीद भी बैठे। अजित ने सोफे के आरामदेह होने ओर खूबसूरत होने की मंच पर तारीफ भी की। फिर रैली खत्म होने के बाद बड़े नेता जैसे ही विदा हुए इसे खरीदने की होड़ शुरू हो गई।

पढ़े : सियासी समीकरण पर चोट का मरहम रालोद की रैलियां

पार्टी सूत्रों के मुताबिक सबसे पहले जिलाध्यक्ष ने 1.51 लाख से बोली शुरू की। मंडल अध्यक्ष इससे भी आगे बढ़ गए। धीरे-धीरे बोली 3.01 लाख तक पहुंच गई। अंत में युवा रालोद के प्रदेश महासचिव ब्रजेश चाहर ने सोफे के लिए 3.21 लाख रुपये की बोली लगाई ओर उसे खरीद लिया। सोफा शाहगंज के लखमी टेंट हाउस का था।

इससे पहले पिछले दिनों कोठी मीना बाजार मैदान में ही हुई भाजपा की विजय शंखनाद रैली में मोदी के बैठने के लिए रखी गई कुर्सी भी चर्चाओं में रही थी। पार्टी नेताओं ने उसके लिए पांच लाख तक बोली लगा दी थी। लेकिन कुर्सी स्वामी ने उसे बेचने से इन्कार कर दिया था।

सोफा मेरे लिए यादगार

युवा रालोद के राष्ट्रीय महासचिव ब्रजेश चाहर ने कहा कि चौ. अजित सिंह हमारे आदर्श हैं। जिस कुर्सी पर वह इस ऐतिहासिक रैली में बैठे, उसे मैंने उनके सम्मान में खरीदा है। सोफे को मैं यादगार के तौर पर रखूंगा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस